गोरखपुर समाचार: डीआईजी ने लॉकडाउन का कराया पालन , रोड पर रहा सन्नाटा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2021   17:12
गोरखपुर समाचार: डीआईजी ने  लॉकडाउन का कराया पालन , रोड पर रहा सन्नाटा

सांसद रवि किशन शुक्ला ने लोगों से अपील किया कि वह आवश्यकता पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें अन्यथा ना निकलें उन्होंने कहा कि यह वैश्विक महामारी किसी वर्ग विशेष के लिए नहीं है यह किसी को भी हो सकती है अतः आप सभी जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें सांसद ने अनुरोध किया कि सामाजिक दूरी का पालन आप अवश्य करें तथा साथ ही साथ चेहरे पर मास्क का प्रयोग जरूर करें अपने हाथों को धोते रहें तथा सैनिटाइजर लगाते रहें।

गोरखपुर।  कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान लगाए गए दो दिवसीय लॉकडाउन का पालन का जायजा लिया। डीआईजी डॉ प्रीतिंदर सिंह शनिवार को शहर का भ्रमण कर लॉकडाउन के प्रति किए गए व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दीया की लॉक डाउन के दौरान सोमवार सुबह 7 बजे तक आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर किसी भी आवागमन की इजाजत नहीं दी जाएगी इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कोरोना प्रोटोकॉल के तहत वैधानिक कार्रवाई की जाए।

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव की मांग, कोरोना की मुफ्त जांच, मुफ्त टीका और मुफ्त इलाज हो

 इस दौरान केवल कोविड-19 इंजेक्शन लगवाने वाले या इमरजेंसी कार्य हेतु ही बाहर निकल सकते हैं वह भी मास्क लगाकर इस दौरान शहर के सभी गली मोहल्ले भीड़ भाड़ स्थानों को सैनिटाइज करने का कार्य नगर निगम व फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा इसका सभी संबंधित अनुपालन कराना सुनिश्चित किये ।

 कोरोना के चैन  को तोड़ने के लिए गोरखपुर में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर  बेहद भयावह होती जा रही इसके चैन को तोड़ने के लिए दो दिवसीय वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है इसका अनुपालन कराना हमारी जिम्मेदारी व कर्तव्य है इस दौरान सिर्फ अतिआवश्यक सेवा यानी मेडिकल, पुलिस तथा बंदिश के साथ सरकारी परिवहन सेवा को छोड़कर बाकी लोगों का घर से निकलना पूर्णत: वर्जित रहा  इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी   कोरोना कर्फ्यू,  के लिए मुकम्मल व्यवस्था की है जिससे कोरोना चैन को तोड़ा जा सके। पिछले रविवार को एकदिवसीय लॉकडाउन रहा लेकिन प्रदेश सरकार ने अब शनिवार और रविवार दो दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा कर रखी है जिससे कोरोना संक्रमण के चैन को साफ-सफाई व सेनिटाइज कर तोड़ा जा सके।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के किसी भी निजी या सरकारी कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं: योगी

एडीजी जोन कार्यालय और आवास पर किये श्रमदान

एडीजी जोन अखिल कुमार शनिवार को अपने कार्यालय व कर्मचारियों के आवासों पर किया श्रमदान अपना घर रहेगा स्वच्छ तभी अन्य घरों को कर पाएंगे स्वच्छ व कोरोना मुक्त। प्रदेश सरकार द्वारा शुक्रवार शाम 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर सभी आवागमन व प्रतिष्ठानों को बंद करने का निर्देश दिया है इस दौरान केवल सैनिटाइज कर  घर ऑफिस  प्रमुख चौराहों प्रतिष्ठानों गलियों धरो को साफ-सफाई का कार्य किया जाएगा उसी के परिपेक्ष में एडीजी जोन अखिल कुमार ने अपने कार्यालय व अपने आवास सहित कर्मचारियों के आवास को साफ सफाई कर स्वच्छ करने का अभियान श्रमदान द्वारा किया व इससे पहले एडीजी जोन 19 फरवरी को रामगढ़ ताल क्षेत्र को श्रमदान के द्वारा स्वच्छ करने का कार्य किया था एडीजी जोन बराबर जनहित कार्यों को लगातार करते रहते हुये चर्चाओं में बने रहते हैं की गोरखपुर वासियों के समस्याओं का ज्यादा से ज्यादा समस्याओं का समाधान कैसे हो सके उसका बराबर नया नया तरीका निर्धारण करते रहते हैं।

एडीजी ने स्वच्छता के प्रति जागरूक किया और खुद साफ-सफाई करते हुए स्वच्छता का संदेश दिया। अगर बराबर साफ-सफाई होता रहे तो कोरोना जैसी महामारी अपने आप साफ हो जाएगी कोरोना जैसी महामारी को साफ सुथरा स्वच्छता व हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन से सैनिटाइज  कर कोरोना जैसी भयानक महामारी को भगाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच यूपी में सभी अंतरिम आदेश 31 मई तक बढ़ाए गए

 उपस्थित पुलिसकर्मियों को स्वच्छता का पाठ पढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि साफ-सफाई रखने से कई प्रकार की बीमारियों को आसानी से भगाया जा सकता है। इसलिए सभी को अपने आसपास के परिवेश को साफ-सुथरा रखना चाहिए।

पंचायत चुनाव को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई

 त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर अपराध रोकथाम हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गोरखपुर के दिशा-निर्देश में पुलिस अधीक्षक दक्षिणी व क्षेत्राधिकारी खजनी के कुशल पर्यवेक्षण व थानाध्यक्ष देवेन्द्र कुमार सिंह के नेतृत्व मे उ0नि0 उदयभान सिंह मय हमराहियान के थाना हाजा से प्रस्थान से प्रस्थान कर क्षेत्र में मामूर था कि जरिये मुखबिर खास सूचना मिली कि मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित अभियुक्त भैसहिया चौराहे पर अपने मोबाइल व फोटोकॉपी की दुकान पर खड़े है और आपस मे घटना के सम्बन्ध में वार्ता कर रहे है और कही जाने के फिराक में है जल्दी किया जाय तो पकड़ा जा सकता है इस सूचना पर विश्वास कर  उ0नि0 मय हमराह कर्म0गण के भैसहिया चौराहे से थोड़ा पहले ही मुखबिर ने इशारा कर बताया कि साहब वही रामउग्रह की मोबाइल फोटोकॉपी की दुकान है जिसके बाहर चारो  व्यक्ति खड़े है वही लोग संजीव चौधरी, विनोद कुमार मौर्या ,रामउग्रह ,दिलीप मौर्या है बता कर हटबढ गया इसके बाद हम पुलिस वाले एक बारगी छूपते छुपाते हुए दविश देकर चारों व्यक्तियों को पकड लिया गया|

 पकड़े गये व्यक्तियों से बारी बारी से नाम पता पूछा गया तो चारो ने अपना नाम क्रमशः 1.संजीव चौधरी पुत्र बलिराम चौधरी 2.विनोद कुमार मौर्या उर्फ विक्की पुत्र बलिराम मौर्या 3.रामउग्रह पुत्र स्व0 रामलौट 4.दिलीप मौर्या पुत्र बलिराम मौर्या निवासीगण कविसा थाना हरपुर बुदहट जनपद गोरखपुर बताया । 

अभियुक्त संजीव चौधरी उपरोक्त की जामा तलाशी वाजफ्ता बकायदा हमराही कर्मचारीगण के समक्ष ली गयी तो संजीव चौधरी उपरोक्त के पास से एक अदद मोबाइल vivo Y50 नीले रंग का बरामद हुआ जिसको चालू कर के देखा गया तो घटना से सम्बन्धित विडियो का  होना पाया गया जिसको बाकब्जा पुलिस मे लिया गया तथा हिकमत अमली से पूछताछ करने पर चारो अभियुक्तगण ने  बताया कि साहब उस दिन लोगो को गांव के प्रधान प्रत्याशी व अन्य लोगो के साथ हम लोग भी आवेश में आकर पोलिंग पार्टी पर ईट पत्थर चलाते हुए गाडी को रोक कर रास्ता जाम किये थे साहब उसी घटना का वीडियो है जो मैने व अन्य लोगो ने बनाया है साहब गलती हो गयी  है हमे बचा लीजिए । अभियुक्तगण उपरोक्त को कारण बताते हुए हम पुलिस वालो द्वारा समय करीब 08.10 बजे माननीय सर्वोच्च न्यायालय व राष्ट्रीय मानवाधिकार के आदेशो निर्देशो का अक्षरशः पालन करते हुए। उसके जुर्म धारा 141/147/148/149/186/188/171(च)/427/353/341 भादवि0 व 7 CLA ACT का अपराध बता कर हिरासत पुलिस लिया गया । गिरफ्तार अभियुक्तगण को जेल भेजने की कार्यवाही की जा रही है । 

सांसद रवि किशन ने बढ़ाए मदद के हाथ

वर्तमान में बढ़ते कोविड-19 महामारी के प्रकोप के मद्देनजर इलाज हेतु बढ़ते ऑक्सीजन के डिमांड पर गोरखपुर सदर सांसद रवि किशन शुक्ला ने गोरखपुर जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन को एक पत्र लिखकर गोरखपुर में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के लिए अपने सांसद निधि से 4000000 रुपए दिए हैं |

सांसद रवि किशन शुक्ला ने कहा वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोनावायरस समाज पर एक बड़ा संकट है इससे निपटने के लिए ऑक्सीजन एक बड़ी समस्या के रूप में गोरखपुर वासियों के सामने आई है इसी के लिए गोरखपुर तथा आसपास के लोगों को सहजता से ऑक्सीजन उपलब्ध हो सके गोरखपुर में ऑक्सीजन प्लांट के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया है। रवि किशन शुक्ला ने कहा कोरोनावायरस समाज पर फिर से पलट कर वार किया है जिससे हम सभी मजबूती से लड़ रहे हैं गोरखपुर सांसद रवि किशन ने नगर निगम, मेडिकल कॉलेज ,सरकारी अस्पताल, प्राइवेट हॉस्पिटल के द्वारा सराहनीय कार्य करने के लिए सभी के प्रति आभार व्यक्त किया है|

इसे भी पढ़ें: सोनिया ने रायबरेली के जिला अधिकारी से कहा, सांसद निधि में बची राशि कोरोना से निपटने में खर्च की जाए

सांसद रवि किशन शुक्ला ने लोगों से अपील किया कि वह आवश्यकता पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें अन्यथा ना निकलें उन्होंने कहा कि यह वैश्विक महामारी किसी वर्ग विशेष के लिए नहीं है यह किसी को भी हो सकती है अतः आप सभी जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें सांसद ने अनुरोध किया कि सामाजिक दूरी का पालन आप अवश्य करें तथा साथ ही साथ चेहरे पर मास्क का प्रयोग जरूर करें अपने हाथों को धोते रहें तथा सैनिटाइजर लगाते रहें। भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोनावायरस के संक्रमण से निपटने के लिए गंभीर एवं आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं इसी क्रम में चौरी चौरा विधानसभा में ऑक्सीजन प्लांट स्थापना हेतु अपनी विधायक निधि से 2500000 रुपए दान किया श्रीमती संगीता यादव जी ने। विधायक संगीता यादव ने कहा यह महामारी अपने चरम पर है तथा ऑक्सीजन की कमी से जूझते लोग अपना दम तोड़ रहे हैं अतः वे अपने  विधायक निधि से अपना योगदान समाज सेवा के तौर पर ऑक्सीजन प्लांट लगाने हेतु कर रही हैं जिससे चौरी चौरा ही नहीं बल्कि अगल बगल के क्षेत्रों में भी ऑक्सीजन की परिपूर्ति आसानी से की जा सके। 

कोरोना संक्रमितों को  रेमडेसिवीर इंजेक्शन लगाना जरूरी नहीं

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी की गई रेमडेसिवीर इंजेक्शन भी अब शक के घेरे में आ गई है रामबाण साबित होते जा रही है इंजेक्शन अब परेशानियों का कारण भी बनती जा रही है गोरखपुर के रहने वाले तथा आई एम ए के जिला सचिव डॉ वी एन अग्रवाल ने एक प्रेस नोट के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन को आई एम ए ने अर्थात इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के लिए एडवाइजरी जारी हुई है  उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के बचाव के लिए डॉक्टर मरीजों को रेमडेसिवीर इंजेक्शन की सलाह दे रहे हैं जो किसी भी हालत में कारगर साबित नहीं है उन्होंने बताया इस को लेकर कई बार रिसर्च हो चुका है लेकिन कोई सार्थक परिणाम सामने नहीं आया है।

 उन्होंने बताया कि दवा के प्रयोग के इंडिकेशन सीमित हैं उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि यह दवा महंगी भी है तथा बाजार में उपलब्ध भी नहीं है उसके बावजूद भी डॉक्टर इसी दवा को लिख रहे हैं।

 डॉ वी एन अग्रवाल ने आईएमए के अधिकारियों से अपील की कि वे अपने स्तर से डॉक्टरों को हिदायत दें  कि वे रेमडेसिवीर इंजेक्शन को मरीजों के लिए ना लिखें क्योंकि विश्व में जहां कहीं भी इस इंजेक्शन के ऊपर रिसर्च हुआ उसका सार्थक परिणाम सामने अभी तक नहीं आया है इसीलिए उन्होंने आग्रह किया कि कोई भी डॉक्टर इस इंजेक्शन को लगाने की सलाह ना दें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।