वायुसेना के बेड़े में शामिल होंगे 83 तेजस, 48 हजार करोड़ के रक्षा सौदे को सरकार की मंजूरी

  •  अभिनय आकाश
  •  जनवरी 13, 2021   18:28
  • Like
वायुसेना के बेड़े में शामिल होंगे 83 तेजस, 48 हजार करोड़ के रक्षा सौदे को सरकार की मंजूरी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय वायुसेना की मजबूती के लिए रक्षा खरीद को मंजूरी दी गई। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने कहा कि ये सौदा रक्षा क्षेत्र में गेंम चेंजर साबित होगी।

सीमा पर एक तरफ चीन के साथ तनाव तो दूसरी तरफ पाकिस्तान की एलओसी से घुसपैठ की कवायदों के बीच मोदी सरकार की अध्यक्षता वाली कैबिनेट ऑफ सिक्योरिटी (सीसीएस) ने 83 तेजस विमान की खरीद को मंजूरी दे दी है। सुरक्षा मामलों पर मंत्रिमंडल समिति ने करीब 48,000 करोड़ रुपये की लागत से तेजस विमान खरीदने को मंजूरी दी है। डील को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय वायुसेना की मजबूती के लिए रक्षा खरीद को मंजूरी दी गई। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने कहा कि ये सौदा रक्षा क्षेत्र में गेंम चेंजर साबित होगी। 

इसे भी पढ़ें: घाटी में सोशल मीडिया के जरिए आतंक फैलाने की हो रही कोशिश ! सुरक्षा एजेंसियों ने 100 अकाउंट्स का पता लगाया

गौरतलब है कि तेजस फोर्थ जेनेरेशन का टेललेस कंपाउंड डेल्टा विंग विमान है। यह फ्लाई वायर फ्लाइट नियंत्रक प्रणाली, इंटीग्रेटेड डिजिटल एवियोनिक्स, मल्टीमाॅड रडार से लैस लड़ाकू विमान है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


शिवराज कोलकाता में कालीघाट मंदिर में दर्शन के बाद बोले, बंगाल में परिवर्तन की लहर चल रही है

  •  दिनेश शुक्ल
  •  फरवरी 28, 2021   23:49
  • Like
शिवराज कोलकाता में कालीघाट मंदिर में दर्शन के बाद बोले, बंगाल में परिवर्तन की लहर चल रही है

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की धरती पर जितने चिंतक, विचारक, क्रांतिवीर हुए, उससे इस धरती के प्रति हृदय श्रद्धा और सम्मान से झुक जाता है, लेकिन ऐसा लगता है कि टीएमसी ने इसे पूरी तरह से बर्बाद करने की ठान ली है। चारों तरफ भ्रष्टाचार और हिंसा का बोलबाला है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पश्चिम बंगाल में चुनावी आमसभा को संबोधित करने के लिए शनिवार रात कोलकाता पहुंच गए है। उन्होंने कोलकता के निकट धुलागोरी मोड़ से हावड़ा साउथ तक परिवर्तन रैली की साथ ही मुख्यमंत्री ने धुलागोरी मोड़, आलमपुर और हावड़ा साउथ में आम सभा को संबोधित भी किया।

 

इसे भी पढ़ें: उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने की घोषणा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर होगा विधि महाविद्यालय

सबसे पहले रविवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज कालीघाट मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। यहां उन्होंने मां काली की पूजा अर्चना कर आर्शीवाद लिया। मुख्यमंत्री शिवराज ने इसकी जानकारी ट्वीट कर साझा की है। उन्होंने एक के बाद एक लगातार कई ट्वीट कर कहा ‘आज कोलकाता में कालीघाट मंदिर में माँ काली के चरणों में प्रणाम और दर्शन कर जीवन धन्य हो गया। मैया से यही प्रार्थना कि बंगाल को टीएमसी के हिंसा, भ्रष्टाचार और अत्याचार से मुक्त कर नये प्रकाश से आलोकित करें। चारों तरफ खुशहाली, समृद्धि का कमल खिले।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 363 नए मामले आए सामने, धार में एक व्यक्ति की हुई मौत

एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने कहा कि पश्चिम बंगाल में परिवर्तन की लहर चल रही है। टीएमसी के अत्याचार, भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी से लोग परेशान हैं। केंद्र की योजनाओं का लाभ यहां के भाई-बहनों को नहीं लेने दिया जा रहा है। हम ममता जी से पूछना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री सम्मान निधि के किसान भाइयों को मिल जाता तो, ममता दीदी का क्या बिगड़ जाता? गरीबों का राशन खा गये, आपदा का तिरपाल खा गये, चारों तरफ भ्रष्ट्राचार का राज है।

 

इसे भी पढ़ें: करेंट लगाकर बाघ की हत्या कर शव फेंका, 03 आरोपी गिरफ्तार कर भेजे गए जेल

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की धरती पर जितने चिंतक, विचारक, क्रांतिवीर हुए, उससे इस धरती के प्रति हृदय श्रद्धा और सम्मान से झुक जाता है, लेकिन ऐसा लगता है कि टीएमसी ने इसे पूरी तरह से बर्बाद करने की ठान ली है। चारों तरफ भ्रष्टाचार और हिंसा का बोलबाला है। इस समय मैं देख रहा हूं कि परिवर्तन की लहर पूरे पश्चिम बंगाल में चल रही है। निश्चित तौर पर भाजपा चुनाव जीतेगी। टीएमसी का नाम तो हो गया है-तोड़ो, मारो, काटो। रैली की गाडिय़ां तोड़ी जा रही हैं, कार्यकर्ता मारे और काटे जा रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने की घोषणा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर होगा विधि महाविद्यालय

  •  दिनेश शुक्ल
  •  फरवरी 28, 2021   23:33
  • Like
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने की घोषणा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर होगा विधि महाविद्यालय

मंत्री यादव ने विधि महाविद्यालय का नाम डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विधि महाविद्यालय करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कश्मीर में धारा 370 को लागू करके तत्कालीन सरकार ने जो गलती की थी उसका विरोध करते हुए डॉ. मुखर्जी का बलिदान हुआ था।

रीवा। मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने विधि महाविद्यालय के नव निर्मित भवन का लोकार्पण किया। इसकी कुल लागत 6 करोड़ 13 लाख रूपये है। इस अवसर पर मंत्री यादव ने कहा कि विधि महाविद्यालय में एलएलबी के पांच वर्षीय कोर्स नये शिक्षा सत्र से शुरू किये जायेंगे। स्ववित्तीय योजना से महाविद्यालय अन्य नये कोर्स भी शुरू कर सकता है। ठाकुर रणमत सिंह महाविद्यालय में भी रोजगार मूलक कोर्स शुरू करने की आवश्यकता है। रीवा का शिक्षा के क्षेत्र में सदैव सम्मानीय नाम रहा है। रीवा को पुन: उच्च शिक्षा का विकसित केन्द्र बनाया जायेगा।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 363 नए मामले आए सामने, धार में एक व्यक्ति की हुई मौत

मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नयी शिक्षा नीति लागू की है। मध्य प्रदेश में भी नई शिक्षा नीति शीघ्र लागू की जायेगी। इससे शिक्षा व्यवस्था में बहुत बड़ा परिवर्तन होगा। मंत्री यादव ने विधि महाविद्यालय का नाम डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विधि महाविद्यालय करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कश्मीर में धारा 370 को लागू करके तत्कालीन सरकार ने जो गलती की थी उसका विरोध करते हुए डॉ. मुखर्जी का बलिदान हुआ था। प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर में धारा 370 समाप्त करके नये युग का सूत्रपात किया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने तथा अच्छे संस्कार देने वाली शिक्षा को बढ़ावा दिया जायेगा।

 

इसे भी पढ़ें: करेंट लगाकर बाघ की हत्या कर शव फेंका, 03 आरोपी गिरफ्तार कर भेजे गए जेल

समारोह की अध्यक्षता करते हुए सांसद जनार्दन मिश्र ने कहा कि रीवा में विकास की नई इबारत लिखी जा रही है। पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ल के प्रयासों से रीवा ही नहीं पूरे संभाग को कई सौगातें मिली हैं। विधि महाविद्यालय का भवन उन्हीं में से एक सौगात है। रीवा का शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा नाम रहा है। यहां के विद्यार्थियों ने सदैव गुरूओं का सम्मान किया। पी.के. सरकार जैसे तपस्वी प्रोफेसरों का हर विद्यार्थी सम्मान करता था। शिक्षा का स्तर ऊंचा करने के लिये गुरूओं और विद्यार्थी दोनों का स्तर ऊंचा करना होगा। तभी विधि महाविद्यालय से जे.एस. वर्मा और जी.पी. सिंह जैसे विद्यार्थी निकलेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: पहले चरण के कोरोना वैक्सीनेशन में मध्य प्रदेश देश में दूसरे स्थान पर, सोमवार से दूसरा चरण होगा शुरू

समारोह में पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि रीवा ही नहीं पूरे विंध्य के ऊर्वर मस्तिष्क का लोहा हर कोई मानता है। राजनीति, शिक्षा और पत्रकारिता के क्षेत्र में रीवा के धुरंधरों की तूती बोलती रही है। रीवा के चहुंमुखी विकास के लिये लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। विंध्य क्षेत्र सीमेंट तथा ऊर्जा की आपूर्ति पूरे प्रदेश को कर रहा है। उन्होंने विधि महाविद्यालय का नाम डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के नाम पर करने का अनुरोध किया। समारोह में प्राचार्य विधि महाविद्यालय योगेन्द्र तिवारी ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि रीवा में 1942 से विधि की शिक्षा दी जा रही है। यह प्रदेश का दूसरा विधि महाविद्यालय है। समारोह में विधायक सिरमौर दिव्यराज सिंह, भाजपा के जिला अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह, प्रदेश मंत्री राजेश कुमार पाण्डेय, बार काउसिंल के पूर्व अध्यक्ष शिवेन्द्र उपाध्याय, अतिरिक्त संचालक शिक्षा पंकज श्रीवास्तव, विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य तथा प्राध्यापक एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे। समारोह का शुभारंभ कन्या पूजन से किया गया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


मध्य प्रदेश में कोरोना के 363 नए मामले आए सामने, धार में एक व्यक्ति की हुई मौत

  •  दिनेश शुक्ल
  •  फरवरी 28, 2021   23:06
  • Like
मध्य प्रदेश में कोरोना के 363 नए मामले आए सामने, धार में एक व्यक्ति की हुई मौत

बुलेटिन में राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक 2,55,117 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 243 मरीज रविवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 2,785 हो गए हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना के नये मामलों में निरंतर वृद्धि देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 363 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 01 व्यक्ति की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 2 लाख 61 हजार 766 और मृतकों की संख्या 3864 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर-165, भोपाल-49, जबलपुर-11, उज्जैन-12, बैतूल-12, छिंदवाड़ा-12 के अलावा अन्य जिलों में 10 से कम मरीज मिले हैं। इनमें 16 जिले ऐसे हैं, जहां आज नये प्रकरण शून्य रहे।

 

इसे भी पढ़ें: करेंट लगाकर बाघ की हत्या कर शव फेंका, 03 आरोपी गिरफ्तार कर भेजे गए जेल

बुलेटिन के अनुसार, रविवार को प्रदेशभर में 16,220 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 363 पॉजिटिव और 15,857 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 137 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 2.2 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 2,61,403 से बढ़कर 2,61,766 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 59,617, भोपाल-44,082, जबलपुर 16,638, ग्वालियर 16,536, सागर 5542, खरगौन 5518, उज्जैन 5072, रतलाम-4801, रीवा-4184, धार-4162, होशंगाबाद 3905, बैतूल-3769. शिवपुरी-3652, विदिशा-3631, नरसिंहपुर 3552, सतना-3514, मुरैना 3241, बालाघाट-3218, नीमच 3066, छिंदवाड़ा 3003, बड़वानी 2995, शहडोल 2990, देवास-2976, दमोह-2893, मंदसौर 2889, सीहोर-2843, झाबुआ 2605, राजगढ़-2496, रायसेन-2494, खंडवा 2392, कटनी 2285, हरदा-2157, अनूपपुर 2119, छतरपुर-2112, सीधी 2102, सिंगरौली 1970, दतिया 1916, शाजापुर 1816, सिवनी 1605, गुना-1565, श्योपुर 1531, भिण्ड-1506, टीकमगढ़ 1320, उमरिया-1320, अलीराजपुर 1305, मंडला-1236, पन्ना 1141, अशोकनगर-1140, डिंडौरी 1059, बुरहानपुर 926, निवाड़ी 685 और आगरमालवा 673 मरीज शामिल हैं।

 

इसे भी पढ़ें: पहले चरण के कोरोना वैक्सीनेशन में मध्य प्रदेश देश में दूसरे स्थान पर, सोमवार से दूसरा चरण होगा शुरू

राज्य में आज कोरोना से एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। मृतक धार जिले का निवासी है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या 3863 से बढ़कर 3864 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 933, भोपाल 618, ग्वालियर-230, जबलपुर-252, खरगौन-110, सागर-152, उज्जैन 104, रतलाम-82, धार-59, रीवा-35, होशंगाबाद-61, शिवपुरी-30, विदिशा-71, नरसिंहपुर-30, सतना-42, मुरैना-29, बैतूल-77, बालाघाट-14, शहडोल-30, नीमच-37, देवास-27, बड़वानी-31, छिंदवाड़ा-48, सीहोर-48, दमोह-93, मंदसौर-36, झाबुआ-27, रायसेन-46, राजगढ़-70, खंडवा-63, कटनी-20, हरदा-36, छतरपुर-32, अनूपपुर-15, सीधी-13, सिंगरौली-26, दतिया-20, शाजापुर-22, सिवनी-10, भिण्ड-10, गुना-26, श्योपुर-16, टीकमगढ़-27, अलीराजपुर-16, उमरिया-18, मंडला-10, अशोकनगर-17, पन्ना-04, डिंडौरी-01, बुरहानपुर-27, निवाड़ी-03 और आगरमालवा-10 व्यक्ति शामिल है।

 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में ट्रक लाखो की लूट का माल मध्य प्रदेश के राजगढ़ से बरामद

बुलेटिन में राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक 2,55,117 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 243 मरीज रविवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 2,785 हो गए हैं। बता दें कि प्रदेश में 10 दिन पहले सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept