सरकार ने ड्रोन संचालन के लिए डिजिटल वायुक्षेत्र मानचित्र जारी किए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 25, 2021   07:46
सरकार ने ड्रोन संचालन के लिए डिजिटल वायुक्षेत्र मानचित्र जारी किए
प्रतिरूप फोटो

ड्रोन संचालन के लिए विभिन्न क्षेत्रों को तीन हिस्से -- हरा, पीला और लाल- में बांटा गया है। हरा क्षेत्र वह वायुसीमा क्षेत्र होगा जो 400 फुट तक होगा और यह लाल एवं पीला क्षेत्र के तौर पर चिह्नित नहीं होगा।

 सरकार ने ड्रोन संचालन के लिए शुक्रवार को एक डिजिटल वायुक्षेत्र मानचित्र जारी किया, ताकि देश में ड्रोन उड़ाने के लिए पीला एवं लाल जोन सहित अलग-अलग जोन को तय किया जा सके। नागर विमानन मंत्रालय द्वारा संशोधित ड्रोन नियम बनाए जाने के बाद यह मानचित्र जारी किया गया है।

ड्रोन संचालन के लिए विभिन्न क्षेत्रों को तीन हिस्से -- हरा, पीला और लाल- में बांटा गया है। हरा क्षेत्र वह वायुसीमा क्षेत्र होगा जो 400 फुट तक होगा और यह लाल एवं पीला क्षेत्र के तौर पर चिह्नित नहीं होगा।

इसे भी पढ़ें: देश को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी केंद्र बनाने का लक्ष्य : नागर विमानन मंत्री

यह किसी क्रियाशील हवाई अड्डे की परिधि के आठ से 12 किलोमीटर के दायरे में होगा और क्षेत्र से 200 फुट की ऊंचाई पर स्थित होगा। पीला क्षेत्र चिह्नित हरित क्षेत्र के अंदर 400 फुट की ऊंचाई तक का वायु क्षेत्र होगा। वहीं लाल क्षेत्र वह इलाका होगा जहां केवल केंद्र सरकार की अनुमति से ड्रोन उड़ाया जा सकेगा।

इसे भी पढ़ें: ड्रोन सुरक्षा तकनीक के लिए पारस एयरोस्पेस और इजरायल की पैराज़ीरो में समझौता





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।