केरल के राज्यपाल ने 2019 की घटना का वीडियो क्लिप शेयर कर कहा- पदाधिकारियों के निर्देश पर पुलिस को मामला दर्ज करने से रोका गया

aarif
ANI
अभिनय आकाश । Sep 19, 2022 12:41PM
राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री के निजी सचिव केके रागेश ने ऐतिहासिक कांग्रेस के दौरान उनके खिलाफ हुई हिंसा में पुलिस को मामला दर्ज करने से रोक दिया। राज्यपाल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि रागेश ने मंच से नीचे आकर पुलिस को रोका।

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने 2019 में कन्नूर विश्वविद्यालय में आयोजित एक समारोह में उन्हें कथित रूप से परेशान किए जाने के वीडियो क्लिप मीडिया के साथ साझा किए। खान ने अब मुख्यमंत्री कार्यालय में कार्यरत एक व्यक्ति पर कन्नूर विश्वविद्यालय समारोह में उन्हें धमकाए जाने पर पुलिस को कार्रवाई से रोकने का आरोप लगाया। तिरुवनंतपुरम में केरल के राज्यपाल एएम खान ने कहा कि कन्नूर में मेरे साथ (शारीरिक हमला) जो कुछ भी हुआ वह कई पुलिस कर्मियों की मौजूदगी में हुआ था। तब के वीडियो में आप एक वरिष्ठ राजनीतिक पदाधिकारी को देख सकते हैं, जो अब मुख्यमंत्री कार्यालय में है।

इसे भी पढ़ें: राज्य विश्वविद्यालयों की स्वायत्ता को कमजोर नहीं होने दूंगा: केरल के राज्यपाल

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्यपाल ने अपने ऊपर हुए हमलों की फुटेज जारी की। उन्होंने कहा कि वे राजभवन द्वारा शूट किए गए वीडियो को नहीं बल्कि सरकार और मीडिया द्वारा शूट किए गए वीडियो को जारी कर रहे हैं। राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री के निजी सचिव केके रागेश ने ऐतिहासिक कांग्रेस के दौरान उनके खिलाफ हुई हिंसा में पुलिस को मामला दर्ज करने से रोक दिया। राज्यपाल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि रागेश ने मंच से नीचे आकर पुलिस को रोका और उनके खिलाफ जो हुआ वह स्वाभाविक विरोध नहीं था।

इसे भी पढ़ें: केरल में Bharat Jodo Yatra के लिए सब्जीवाले से वसूली कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ता, पैसे नहीं देने पर धमकाया

केरल के राज्यपाल ने विश्वविद्यालय की कार्यप्रणाली पर मुख्यमंत्री पिनराई विजयन द्वारा उन्हें भेजा पत्र भी मीडिया में जारी किया। उन्होंने कहा कि यह शर्म की बात है कि राज्य सरकार का राजस्व मुख्य रूप से लॉटरी और शराब की बिक्री पर आधारित है।  

अन्य न्यूज़