• तीसरी लहर से दिल्लीवासियों को बचाने की तैयारी में जुटे केजरीवाल, बोले- 5,000 हेल्थ असिस्टेंट को दी जाएगी ट्रेनिंग

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने 5,000 हेल्थ असिस्टेंट तैयार करने की एक बहुत महत्त्वाकांक्षी योजना बनाई है। 5,000 युवाओं को 2-2 हफ्ते की ट्रेनिंग दी जाएगी, आईपी यूनिवर्सिटी ये ट्रेनिंग दिलवाएगी। दिल्ली के 9 बड़े मेडिकल इंस्टीट्यूट में बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कोरोना वायरस की आने वाली तीसरी लहर को लेकर सरकार द्वारा की जा रही तैयारियों के बारे में जानकारी दी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अगर दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर आती है तो उससे बचाने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन के नए प्लांट लगाए जा रहे हैं। ऑक्सीजन सिलेंडर समेत कई तरह की तैयारियां की जा रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहे कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल? दिया यह जवाब 

उन्होंने कहा कि सरकार ने 5,000 हेल्थ असिस्टेंट तैयार करने की एक बहुत महत्त्वाकांक्षी योजना बनाई है। 5,000 युवाओं को 2-2 हफ्ते की ट्रेनिंग दी जाएगी, आईपी यूनिवर्सिटी ये ट्रेनिंग दिलवाएगी। दिल्ली के 9 बड़े मेडिकल इंस्टीट्यूट में बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि ये 5,000 हेल्थ असिस्टेंट डॉक्टर और नर्स के अस्टिटेंट के रूप में काम करेंगे। अपने से यह लोग कोई निर्णय नहीं लेंगे। 5,000 हेल्थ असिस्टेंट्स को प्राथमिक चिकित्सा, ऑक्सीजन नापने, मास्क लगाने, वैक्सीन लगाने, होम केयर की ट्रेनिंग दी जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी के गढ़ गुजरात में केजरीवाल को था किस बात का डर? लोगों से पहले ही उतरवा लिए जूते-चप्पल 

12वीं पास छात्र कर सकेंगे आवेदन

उन्होंने बताया कि 17 जून से इसके लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है और 28 जून से इनकी ट्रेनिंग शुरू होगी। 500-500 लोगों का बैच रहेगा। इस तरह से 5,000 लोगों को ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए 12वीं कक्षा पास लोग योग्य हैं। कम से 18 साल की उम्र होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं फिर से उम्मीद करता हूं कि तीसरी लहर न आए। लेकिन इंग्लैंड से खबर सामने आ रही है कि वहां पर तीसरी लहर आ गई है। इस बात को ध्यान में रखते हुए हम अपनी तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं करना चाहते हैं।