1 अक्टूबर से वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार शुरू करने जा रही है रोजगार एक्सचेंज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 30, 2021   01:51
1 अक्टूबर से वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार शुरू करने जा रही है रोजगार एक्सचेंज

केंद्र ने घोषणा की है कि अब 1 अक्टूबर से काम के अवसर चाहने वाले वरिष्ठ नागरिक रोजगार विनिमय पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। सीनियर एबल सिटीजन फॉर रीएंप्लॉयमेंट इंन डिग्निटी (सेक्रेड) पोर्टल ,सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के अधीन काम करेगा।

कोरोना से राहत के चलते अब केंद्र सरकार व राज्य सरकारें अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान की भरपाई के लिए अनेक लाभकारी स्कीम के साथ आगे रहा रही हैं। साथ ही जनता को रोजगार के अलग-अलग अवसर उपलब्ध करा रही हैं। जिसके साथ अब हाल ही में केंद्र सरकार वरिष्ठ नागरिकों की मदद के लिए सामने आई है।

 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने गृहक्षेत्र में कार्यकर्ताओं को दिए चुनावी जीत के टिप्स

 

केंद्र ने घोषणा की है कि अब 1 अक्टूबर से काम के अवसर चाहने वाले वरिष्ठ नागरिक रोजगार विनिमय पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। सीनियर एबल सिटीजन फॉर  रीएंप्लॉयमेंट इंन डिग्निटी (सेक्रेड) पोर्टल ,सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के अधीन काम करेगा। जो 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के रोजगार योग  बुजुर्गों के वर्चुअल मिलान को उन नियोक्ताओं के साथ सक्षम करेगा ,जो आगे आकर प्लेटफार्म पर पंजीकरण करते हैं।

इसे भी पढ़ें: Dubai Expo 2020 में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन, PM मोदी बोले- आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए किए कई सुधार

 

देश में बुजुर्गों की आबादी में लगातार वृद्धि के चलते पृष्ठभूमि में इस पोर्टल को आगे की राह के साथ देखा जा रहा है। वरिष्ठ नागरिकों की संख्या 1951 में दो करोड़ से बढ़कर 2011 में लगभग 10 .4 करोड़ हो गई है। इस पोर्टल के तहत वरिष्ठ नागरिक शिक्षा ,अनुभव ,रुचि और कौशल के क्षेत्रों पर इनपुट के साथ पंजीकरण कर सकता है।

इन नौकरियों के लिए आवेदन करने में वरिष्ठ नागरिकों की मदद के लिए स्वैच्छिक संगठनों को शामिल करने पर भी विचार किया जा रहा है। नौकरी प्रदाता इसमें शामिल कार्य और इससे पूरा करने के लिए आवश्यक वरिष्ठ नागरिकों की संख्या निर्देशित करेंगे। हालांकि मंत्रालय ने अपनी तरफ से साफ कर दिया है कि एक्सचेंज किसी नौकरी की गारंटी नहीं देता है।

इस पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता सचिव आर सुब्रमण्यम ने कहा कि है यह एक्सचेंज एक संवादआत्मक मंच बनने जा रहा है ,जिसके जरिए हित धारक एक दूसरे  से वस्तुतः मिल सकेंगे और कार्यवाही की बारे में फैसला कर सकेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।