भव्य होगा काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण, मोदी के साथ मौजूद रहेंगे भाजपा शासित राज्यों के सीएम और डिप्टी सीएम

भव्य होगा काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण, मोदी के साथ मौजूद रहेंगे भाजपा शासित राज्यों के सीएम और डिप्टी सीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 13 और 14 दिसंबर को रहने वाले हैं। इस दौरान उनके हाथों से काशीपुराधिपति के दरबार को भक्तों को समर्पित किया जाएगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की मौजूदगी सामाजिक समरसता, अखंडता और एकता का संदेश देगी। जानकारी के मुताबिक काशी की सांस्कृतिक विरासत में भागीदार बनने के लिए 14 को सभी मुख्यमंत्रियों का एक सम्मेलन होगा। जानकारी के मुताबिक काशी में इस उत्सव का सहभागी बनने के लिए हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, बिहार, असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, गुजरात, हरियाणा, गोवा, सिक्किम, मेघालय, मिजोरम, कर्नाटक, पुडुचेरी के मुख्यमंत्री शामिल हो सकते हैं। यह सभी 13 के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे और 14 को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन होगा। इन मुख्यमंत्रियों को महादेव के भव्य दरबार के लोकार्पण में शामिल होने का बुलावा भेजा जा चुका है और ज्यादातर मुख्यमंत्री 13 दिसंबर को कश्मीर पहुंच रहे हैं। बता दें कि नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय यात्रा (13 व 14 दिसंबर) का कार्यक्रम लगभग फाइनल हो गया हैं। हालांकि अभी किसी भी प्रकार का कोई प्रोटोकाल जारी नहीं हुआ है। लेकिन अधिकारियों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही आपको बता दे, श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के अवसर पर देवदीपावली की तर्ज पर ही माँ गंगा किनारे लगभग पांच लाख दियें जलाये जाएंगे। इसके अलावा लेजर शो, आतिशबाजी के साथ रोशनी से समस्त मंदिर, बनारस शहर की गलियां, चौराहे व अन्य सार्वजनिक स्थान भी लाइट्स और दियें से जगमग होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 13 और 14 दिसंबर को रहने वाले हैं। इस दौरान उनके हाथों से काशीपुराधिपति के दरबार को भक्तों को समर्पित किया जाएगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की मौजूदगी सामाजिक समरसता, अखंडता और एकता का संदेश देगी। जानकारी के मुताबिक काशी की सांस्कृतिक विरासत में भागीदार बनने के लिए 14 को सभी मुख्यमंत्रियों का एक सम्मेलन होगा। 

जानकारी के मुताबिक काशी में इस उत्सव का सहभागी बनने के लिए हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, बिहार, असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, गुजरात, हरियाणा, गोवा, सिक्किम, मेघालय, मिजोरम, कर्नाटक, पुडुचेरी के मुख्यमंत्री शामिल हो सकते हैं। यह सभी 13 के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे और 14 को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन होगा। इन मुख्यमंत्रियों को महादेव के भव्य दरबार के लोकार्पण में शामिल होने का बुलावा भेजा जा चुका है और ज्यादातर मुख्यमंत्री 13 दिसंबर को कश्मीर पहुंच रहे हैं। 

बता दें कि नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय यात्रा (13 व 14 दिसंबर) का कार्यक्रम लगभग फाइनल हो गया हैं। हालांकि अभी किसी भी प्रकार का कोई प्रोटोकाल जारी नहीं हुआ है। लेकिन अधिकारियों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही आपको बता दे, श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के अवसर पर देवदीपावली की तर्ज पर ही माँ गंगा किनारे लगभग पांच लाख दियें जलाये जाएंगे। इसके अलावा  लेजर शो, आतिशबाजी के साथ रोशनी से समस्त मंदिर, बनारस शहर की गलियां, चौराहे व अन्य सार्वजनिक स्थान भी लाइट्स और दियें से जगमग होंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।