27 महीने बाद जेल से बाहर आए आजम खान, बोले- मेरी तबाहियों में मेरे अपने लोगों का बड़ा योगदान

Azam Khan
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
सपा नेता आजम खान ने कहा कि हाई कोर्ट के कुछ फैसलों में और सुप्रीम कोर्ट से शत प्रतिशत मामलों में जिस तरह हमें इंसाफ मिला है उसमें यही कहा जा सकता है कि सुप्रीम कोर्ट ने विधाता की तरफ से जो शक्ति उसको मिली थी उसका सही और जायज़ इस्तेमाल किया।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद शुक्रवार को सीतापुर जेल से रिहा कर दिया गया। इस दौरान आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम और प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव समेत भारी मात्रा में समर्थकों ने उन्हें रिसीव किया। हालांकि सपा प्रमुख अखिलेश यादव ट्वीट कर उनका स्वागत किया। 

इसे भी पढ़ें: सपा नेता आजम खान को मिली बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत  

मालिक अपनों को सदबुद्धि दे !

समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में सपा नेता आजम खान ने कहा कि हाई कोर्ट के कुछ फैसलों में और सुप्रीम कोर्ट से शत प्रतिशत मामलों में जिस तरह हमें इंसाफ मिला है उसमें यही कहा जा सकता है कि सुप्रीम कोर्ट ने विधाता की तरफ से जो शक्ति उसको मिली थी उसका सही और जायज़ इस्तेमाल किया।

उन्होंने कहा कि अभी मेरे लिए भाजपा, बसपा और कांग्रेस इसलिए बहुत बड़ा सवाल नहीं है क्योंकि मुझ पर, मेरे परिवार और मेरे लोगों पर हज़ारों की तादाद में जो मुकदमें दायर किए हैं उसमें मैं कहूंगा कि मेरी तबाहियों में मेरा अपना हाथ है। मेरे अपने लोगों का बड़ा योगदान है। मालिक उन्हें सदबुद्धि दे। दरअसल, आजम खान के इस बयान को सपा पर जवाबी हमला माना जा रहा है और उनके परिवार ने तो पहले ही उपेक्षा का आरोप भी लगाया था।

अखिलेश यादव ने आजम खान के रिहा होने पर ट्वीट कर उनका स्वागत किया। उन्होंने कहा कि सपा के वरिष्ठ नेता तथा विधायक आजम खान के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है। जमानत के इस फैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नये मानक दिये हैं। पूरा ऐतबार है कि वे अन्य सभी झूठे मामलों-मुकदमों में बाइज्जत बरी होंगे। झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं! 

इसे भी पढ़ें: आजम खान को जेल में बंद रखना न्याय का गला घोंटने जैसा : मायावती 

आपको बता दें कि आजम खान पिछले 27 महीनों से जेल में बंद थे। हालांकि उनकी पत्नी तंजीम फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को पहले ही जमानत मिल गई थी लेकिन आजम खान को जमानत नहीं मिल पाई थी। जिसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और वहां पर आजम खान को अंतरिम जमानत मिल गई।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़