Prabhasakshi NewsRoom । पठानकोट में आर्मी कैंप के गेट के पास ग्रेनेड धमाका, पंजाब में हाई अलर्ट

Prabhasakshi NewsRoom । पठानकोट में आर्मी कैंप के गेट के पास ग्रेनेड धमाका, पंजाब में हाई अलर्ट

पठानकोट के साथ-साथ अमृतसर, जालंधर, भटिंडा, गुरदासपुर और अन्य सभी शहरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वाहनों की भी कड़ी जांच पड़ताल की जा रही है।

पंजाब के पठानकोट में आतंकी एक बार फिर से हमले की फिराक में हैं। इसी कड़ी में पठानकोट के आर्मी कैंप में ग्रेनेड से हमला किया गया है। बताया जा रहा है कि ग्रेनेड कैंप के त्रिवेणी गेट पर फेंका गया। हालांकि इस हमले में कोई जान माल का नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन पठानकोट में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद कर दी गई है। जगह-जगह खंगाला जा रहा है। पूरे पंजाब में भी सुरक्षा स्थिति को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। पठानकोट के साथ-साथ अमृतसर, जालंधर, भटिंडा, गुरदासपुर और अन्य सभी शहरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वाहनों की भी कड़ी जांच पड़ताल की जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: मनीष तिवारी ने इमरान को लेकर सिद्धू पर कसा तंज, कहा- पुंछ के जवानों की शहादत कैसे भूल सकते हैं ?

पुलिस ने बताया कि मोटरसाइकिल पर सवार अज्ञात लोगों ने छावनी के सामने ग्रेनेड फेंका। सीसीटीवी फुटेज के जरिए उनकी पहचान की जा रही है। उन्होंने बताया कि विस्फोट के बाद इलाके में अलर्ट जारी किया गया। बताया जा रहा है कि आर्मी कैंप के पास से ही एक बारात निकल रही थी। उसी समय मोटरसाइकिल सवार एक युवक वहां से गुजरा। इसी बाइक सवार पर ग्रेनेड फेंकने का शक है। ब्लास्ट के बाद ग्रेनेड का बचा हुआ हिस्सा भी बरामद कर लिया गया है। आपको बता दें कि 2 दिन पहले ही फिरोजपुर जिले में टिफिन बम मिला था। बम को टिफिन में बंद करके जमीन में दबाया गया था। इससे पहले भी पंजाब में टिफिन बम और कई ग्रेनेड मिल चुके हैं। पंजाब पुलिस लगातार आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर रही है। 

इसे भी पढ़ें: डीजीपी सम्मेलन में नक्सली हिंसा, आतंकवाद विरोधी चुनौतियों के खिलाफ कार्रवाई पर हुई चर्चा

आपको बता दें कि पठानकोट में वायु सेना के एयरवेस पर 2 जनवरी 2016 को आतंकी हमला हुआ था। हथियारबंद आतंकी भारतीय सेना की वर्दी में आए थे और इस हमले को अंजाम दिया था। इस आतंकी हमले में भारत को बड़ा नुकसान हुआ था और हमारे 7 जवान शहीद हुए थे। उस दौरान आतंकी सिर्फ पाकिस्तान से आए थे वह भी रावी नदी को पार करते हुए। आतंकियों ने कुछ गाड़ियों को हाईजैक किया था, फिर पठानकोट एयरबेस पर पहुंचे थे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।