अभी कांग्रेस में बने हुए हैं हार्दिक पटेल ! राहुल गांधी के साथ साझा किया मंच

अभी कांग्रेस में बने हुए हैं हार्दिक पटेल ! राहुल गांधी के साथ साझा किया मंच
प्रतिरूप फोटो
Twitter

हार्दिक पटेल मुस्कुराते हुए बताया कि मैं कार्यक्रम में क्यों नहीं आऊंगा। मैं कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष हूं। जब केंद्रीय नेतृत्व आएगा तो जरूर आऊंगा। मैं कांग्रेस पार्टी में बहुत हूं। उन्होंने कहा कि जब केंद्रीय नेतृत्व यहां होगा तो वे निश्चित रूप से बात करेंगे और मैं अन्य बातों पर चर्चा करूंगा।

अहमदाबाद। कांग्रेस छोड़ने की अफवाहों के बीच पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ दाहोद में आदिवासी सत्याग्रह रैली में मंच साझा किया। जिसका फोटो हार्टिक पटेल ने खुद अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से साझा की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि अभी भी वो एक पार्टी के आदमी हैं। 

इसे भी पढ़ें: औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं जिग्नेश मेवानी ! हार्दिक पटेल को लेकर कही यह अहम बात 

दरअसल, हार्दिक पटेल ने कुछ वक्त पहले अपने ट्विटर हैंडल का बॉयो बदलते हुए कांग्रेस का चिह्न हटा दिया था। जिसके बाद उनके कांग्रेस छोड़ने की अटकलों को बल मिला था।

अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट 'इंडिया टुडे' के मुताबिक, हार्दिक पटेल मुस्कुराते हुए बताया कि मैं कार्यक्रम में क्यों नहीं आऊंगा। मैं कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष हूं। जब केंद्रीय नेतृत्व आएगा तो जरूर आऊंगा। मैं कांग्रेस पार्टी में बहुत हूं।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने राज्य नेतृत्व के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त करेंगे, इस पर उन्होंने जवाब दिया कि जब केंद्रीय नेतृत्व यहां होगा वे निश्चित रूप से राज्य नेतृत्व से बात करेंगे और अन्य बातों पर भी चर्चा होगी।

इसे भी पढ़ें: बीजेपी से बढ़ती नजदीकियों की अटकलों के बीच हार्दिक पटेल ने बदला ट्विटर बायो, कांग्रेस पार्टी का नाम हटाया 

रिपोर्ट्स के मुताबिक नाराज हार्दिक पटेल से राहुल गांधी ने संपर्क किया है और उन्हें पार्टी में बने रहने के लिए कहा है। कहा जा रहा है कि मतभेदों को सुलझाने के लिए राहुल गांधी ने हार्दिक पटेल से संपर्क किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।