• गुजरात पुलिस ने 2017 के मामले में रवि पुजारी को हिरासत में लिया

अहमदाबाद अपराध शाखा ने सोमवार को गैंगस्टर रवि पुजारी को 2017 में हुई गोलीबारी के एक मामले में बेंगलुरु जेल से हिरासत में ले लिया, जिसमें गुजरात के आणंद जिले के बोरसद नगर के एक पार्षद पर कथित तौर पर उसके इशारे पर हमला किया गया था।

अहमदाबाद। अहमदाबाद अपराध शाखा ने सोमवार को गैंगस्टर रवि पुजारी को 2017 में हुई गोलीबारी के एक मामले में बेंगलुरु जेल से हिरासत में ले लिया, जिसमें गुजरात के आणंद जिले के बोरसद नगर के एक पार्षद पर कथित तौर पर उसके इशारे पर हमला किया गया था। यह जानकारी अधिकारियों ने दी।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) चैतन्य मांडलिक ने कहा कि अकेले गुजरात में पुजारी के खिलाफ जबरन वसूली और हत्या के प्रयास सहित लगभग 20 आपराधिक मामले दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से अहमदाबाद अपराध शाखा 14 मामलों की जांच कर रही है। पुजारी पिछले साल सेनेगल से भारत प्रत्यर्पित किये जाने के बाद से बेंगलुरु की एक जेल में बंद था। मांडलिक ने कहा, हमने बोरसद नगर में 2017 में हुई गोलीबारी के मामले में उसकी भूमिका की जांच के लिए उसकी हिरासत की मांग की थी। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि बेंगलुरु की एक अदालत ने पुजारी को 30 दिनों के लिए अपराध शाखा की हिरासत में भेज दिया है।

उन्होंने कहा कि पुजारी को आने वाले दिनों में बोरसद में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा। घटना 13 जनवरी, 2017 की है, जब बोरसद नगरपालिका के निर्दलीय पार्षद प्रग्नेश पटेल पर दो हमलावरों ने बेहद नजदीक से तीन गोलिया चलायी थीं जिन्हें बाद में गुजरात पुलिस ने उनके तीसरे साथी के साथ पकड़ लिया था। उन्होंने बताया कि हमले में घायल हुए पटेल बाद में ठीक हो गए थे। पुजारी ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। संयोग से, पटेल पर हमला होने के कुछ दिनों बाद, आणंद जिले के अंकलाव से कांग्रेस विधायक अमित चावडा ने शिकायत दर्ज कराई थी कि पुजारी ने उन्हें फोन पर धमकी दी थी।चावड़ा अब गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष हैं।