कोयला घोटाले में गुप्ता, दो अन्य को दो-दो साल कैद

कोयला ब्लाक आवंटन घोटाले के एक मामले में दिल्ली की विशेष सुनवाई अदालत ने पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को दो साल की सजा सुनाई है। अदालत ने दोषियों पर जुर्माना भी लगाया है।

कोयला ब्लाक आवंटन घोटाले के एक मामले में दिल्ली की विशेष सुनवाई अदालत ने पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को दो साल की सजा सुनाई है। इसी मामले में विशेष सीबीआई न्यायाधीश भरत पराशर ने दो अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों केएस क्रोफा और केसी सामारिया को भी आज दो-दो साल की सजा सुनाई। अदालत ने इसके अलावा तीनों आरोपियों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

इसके साथ ही अदालत ने इस मामले में दोषी निजी क्षेत्र की कंपनी कमल स्पॉन्ज स्टील एंड पावर लि. पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। कंपनी के प्रबंध निदेशक पवन कुमार अहलूवालिया को अदालत ने तीन साल की जेल की सजा सुनाई है। अहलूवालिया को 30 लाख रुपये का जुर्माना भी देना होगा। सजा सुनाए जाने के बाद तीनों आरोपियों को जमानत दे दी गई जिससे वे उच्च न्यायालय में अपील कर सकें। पूर्व कोयला सचिव और दो अन्य वरिष्ठ सेवारत अधिकारियों को इससे पहले अदालत ने मध्य प्रदेश में थेसगोरा-बी रद्रपुरी कोयला ब्लॉक के आवंटन में अनियमितता का दोषी ठहराया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़