हरियाणा पुलिस की अपील, लॉकडाउन के दौरान साइबर अपराधियों से रहें सावधान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2020   19:28
हरियाणा पुलिस की अपील, लॉकडाउन के दौरान साइबर अपराधियों से रहें सावधान

सरकारी वेबसाइट जैसी दिखने वाली वेबसाइट बनाकर भी धोखाधड़ी को अंजाम देने की कोशिश की जा रही है। कोरोना वायरस से बचने के सुरक्षा उपकरण बेचने और घर पहुंचाने के नाम पर ओटीपी मांग कर बैंक खाते से पैसा निकाला जा सकता है।

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान लोगों को साइबर अपराधियों से बचने की सलाह सोमवार को दी। पुलिस ने लोगों को व्यक्तिगत जानकारी ऑनलाइन साझा करने के प्रति सावधान किया और संदिग्ध लिंक न खोलने का सुझाव दिया। पुलिस ने कहा कि मौके का फायदा उठाकर साइबर अपराधी धोखाधड़ी और बैंक खातों में से पैसे निकालने जैसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान मौका पाकर साइबर अपराधी बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए कई तरीके अपना रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 संबंधित कोई भी संदिग्ध लिंक या ईमेल खोलने से पहले लोगों को अधिकतम सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधी फर्जी यूपीआई आईडी बनाकर लोगों से कोविड-19 के नाम पर चंदा इकठ्ठा करने के वास्ते पीएम केयर्स में दान देने के लिए पैसे मांग रहे हैं। विर्क ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि सोशल मीडिया के जरिये भी फर्जी बैंक खाते बनाकर दान मांगा जा रहा है। उन्होंने कहा, “कुछ लोग फर्जी शॉपिंग वेबसाइट बनाकर फेस मास्क और सेनिटाइजर बेचने के नाम पर बैंक खाता संख्या मांग रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्रियों से बोले PM मोदी- अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देते हुए कोरोना के खिलाफ लड़ाई जारी रखें

सरकारी वेबसाइट जैसी दिखने वाली वेबसाइट बनाकर भी धोखाधड़ी को अंजाम देने की कोशिश की जा रही है। कोरोना वायरस से बचने के सुरक्षा उपकरण बेचने और घर पहुंचाने के नाम पर ओटीपी मांग कर बैंक खाते से पैसा निकाला जा सकता है।” उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस की साइबर अपराध शाखा धोखाधड़ी करने वालों को पकड़ने का पूरा प्रयास कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।