हरियाणा के उम्मीदवारों की तमिल में महारत से सीबीआई हैरान

हरियाणा के लोगों ने यूं तो कई क्षेत्रों में खूब नाम कमाया है लेकिन तमिल भाषा पर उनकी पकड़ ने औरों को हैरान किया जबकि सीबीआई को चौकन्ना कर दिया है।

हरियाणा के लोगों ने यूं तो कई क्षेत्रों में खूब नाम कमाया है लेकिन तमिल भाषा पर उनकी पकड़ ने औरों को हैरान किया जबकि सीबीआई को चौकन्ना कर दिया है। जब तमिलनाडु डाक विभाग के पास तमिल भाषा पर अच्छी पकड़ रखने वाले हरियाणा और पंजाब के उम्मीदवारों के बड़ी संख्या में आवेदन आए तो संदेह और गहराया। इसकी शिकायत सीबीआई तक पहुंची जिसने मामले की जांच शुरू कर दी।

डाक विभाग के तमिलनाडु मंडल में डाकिए और मेल गार्ड पदों पर सीधी भर्ती के लिए 11 दिसंबर, 2016 को राज्य के पांच केंद्रों पर परीक्षा हुई थी। इसमें सामान्य ज्ञान, गणित, अंग्रेजी और तमिल के चार प्रश्नपत्र थे। परिणाम मार्च 2017 में घोषित किया गया और पता चला कि हरियाणा से बड़ी संख्या में उम्मीदवार और हरियाणा से पंजीयन करवाने वाले महाराष्ट्र और पंजाब के कुछ उम्मीदवारों ने तमिल समेत सभी विषयों में अच्छे अंक पाए हैं।

प्राथमिकी में आरोप लगाया, ‘‘पता चला कि उच्च अंक पाने वाले हरियाणा के उम्मीदवारों ने हरियाणा राज्य शिक्षा बोर्ड से पढ़ाई की थी और उन्हें तमिल भाषा में महारत होने की कोई संभावना ही नहीं है।’’ यह भी पता चला कि हरियाणा के विभिन्न जिलों से आने वाले 47 उम्मीदवारों ने हरियाणा के सोनिक वायरलेस टेक्नोलॉजीज से एक ही आईपी एड्रेस के कंप्यूटर का इस्तेमाल किया। संदेह और गहराया जब पता चला कि इनमें से 36 की ईमेल आईडी एक ही है। एजेंसी ने तमिलनाडु डाक विभाग की शिकायतों के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़