देवेंद्र फड़णवीस का दावा, दूसरी बार भी मैं ही बनूंगा महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 22 2019 9:06AM
देवेंद्र फड़णवीस का दावा, दूसरी बार भी मैं ही बनूंगा महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री
Image Source: Google

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कुछ लोग मुख्यमंत्री पद का मुद्दा उठा रहे हैं। उनके जाल में मत फंसिए। दोनों पार्टियों में ऐसे कई लोग हैं जो अनावश्यक बोलते रहते हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा कि वह सिर्फ भाजपा ही नहीं बल्कि राज्य सरकार में सभी सहयोगी पार्टियों के मुख्यमंत्री हैं और उन्होंने विश्वास जताया कि दूसरी बार भी वही मुख्यमंत्री बनेंगे। मुख्यमंत्री पद भाजपा और शिवसेना दोनों में विवाद की वजह बना रहा है और दोनों पार्टियों से नेता गाहे बगाहे इस पर बोलते रहते हैं। यहां प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं को उन्होंने बताया कि मैं सिर्फ भाजपा का ही नहीं बल्कि शिवसेना, आरपीआई, राष्ट्रीय समाज पक्ष (राज्य सरकार में सभी सहयोगी पार्टियों) का भी मुख्यमंत्री हूं। जनता यह निर्णय करेगी कि कौन अगला मुख्यमंत्री होगा। आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। हमारा काम ही हमारे लिये बोलेगा। फडणवीस ने कहा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि मैं ही वापसी करूंगा।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र: विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी नेताओं के साथ जेपी नड्डा ने की बैठक

उन्होंने कहा कि कुछ लोग मुख्यमंत्री पद का मुद्दा उठा रहे हैं। उनके जाल में मत फंसिए। दोनों पार्टियों में ऐसे कई लोग हैं जो अनावश्यक बोलते रहते हैं। इस बीच शिवसेना नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने रविवार शाम कहा कि मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों पार्टियों के बीच कोई विवाद नहीं है। उन्होंने कहा कि शिवसेना और भाजपा के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई विवाद नहीं है। हालांकि उन्होंने इस बारे में अधिक जानकारी देने से इनकार कर दिया। राउत ने फडणवीस के बयान पर भी टिप्पणी से इनकार कर दिया कि वह ‘‘भाजपा और शिवसेना के मुख्यमंत्री हैं और राज्य विधानसभा चुनाव के बाद वही इस पद पर वापसी करेंगे। हाल में युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री पद के लिए शिवसेना की पसंद की बात कही गई।

इसे भी पढ़ें: मेडिकल पाठ्यक्रम में सामान्य श्रेणी को महाराष्ट्र सरकार का तोहफा, बढ़ाई जाएंगी सीटें



इसके जवाब में ठाकरे ने कहा था, ‘जनता ही फैसला करेगी कि मैं इस पद पर काबिज होने के लिये तैयार हूं या नहीं। मैं इस बारे में नहीं बात कर सकता क्योंकि यही एकमात्र चीज है जो मेरे हाथ में नहीं है।’ ठाकरे उत्तर महाराष्ट्र में अपनी ‘जन आशीर्वाद’ यात्रा के दौरान समाचार चैनलों को संबोधित कर रहे थे। समझा जाता है कि दोनों पार्टियां बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी और शिवसेना के कुछ नेताओं ने भी हमेशा सत्ता में बराबर की हिस्सेदारी पर जोर दिया है। उधर, फडणवीस एक अगस्त को अमरावती जिले में गुरुकुंज मोजारी से ‘महा जनादेश’ यात्रा की शुरुआत करेंगे। यात्रा का पहला चरण एक से नौ अगस्त तक होगा और इसमें विदर्भ से उत्तर महाराष्ट्र के नंदूरबार तक के इलाकों को कवर किया जायेगा। दूसरा 17 से 31 अगस्त तक होगा जिसमें औरंगाबाद और नासिक के इलाकों को शामिल किया जायेगा। पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया कि इस दौरान वह 104 रैलियों, 228 स्वागत सभाओं और 20 संवाददाता सम्मेलनों को संबोधित करेंगे।

इस वीडियो को भी देखें:

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video