HC ने 'ऑपरेशन कमल' मामले में जांच को दी मंजूरी, जेडीएस नेता के बेटे ने दर्ज कराई थी FIR, जानें पूरा मामला

Yeddyurappa
अभिनय आकाश । Mar 31, 2021 8:03PM
कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा का एक कथित वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो हुबली में बीजेपी की कोर कमेटी को संबोधित करने दिखाई पड़ रहे थे। कथित तौर पर उन्हें कहते सुना गया कि बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओं, जिसमें अमित शाह भी शामिल थे, उनके निर्देश पर राज्य में ऑपरेशन कमल चलाया गया था।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को ऑपरेशन कमल मामले में तगड़ा झटका लगा है। हाई कोर्ट ने इस मामले में जांच को मंजूरी दे दी है। इस मामले को लेकर जनता दल सेकुलर (जेडीएस) के नेता नगर गौड़ा के बेटे शरण गौड़ा की तरफ से एफआईआर दर्ज कराई गई थी। जिसके बाद दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की गई लेकिन कोर्ट ने एफआईआर रद्द करने की मांग वाली याचिका को ही रद्द करते हुए जांच की मंजूरी दे दी है। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,975 नए मामले, 21 मरीजों की मौत

गौरतलब है कि कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा का एक कथित वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो हुबली में  बीजेपी की कोर कमेटी को संबोधित करने दिखाई पड़ रहे थे। कथित तौर पर उन्हें कहते सुना गया कि बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओं, जिसमें अमित शाह भी शामिल थे, उनके निर्देश पर राज्य में ऑपरेशन कमल चलाया गया था। इस दौरान एक दिलचस्प बात ये नजर आई कि इस वीडियो में सिर्फ ऑडियो ही कैप्चर हुआ, लेकिन सभा को संबोधित करते सीएम नहीं दिख रहे थे। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद सीएम य़ेदियुरप्पा ने तमाम आरोपों पर कहा था कि जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया वो गठबंधन सरकार के कार्यकाल से नाखुश थे और इसलिए ये फैसला लिया था। 

कांग्रेस ने सरकार को बर्खास्त करने की मांग की

हाईकोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे को लेकर हमलावर हो गई है। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि अवैध और असंवैधानिक रूप से बने येदियुरप्पा सरकार को अब जाना चाहिए या सीएम येदियुरप्पा और भाजपा सरकार को बर्खास्त किया जाना चाहिए। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़