Gyanvapi Case: HC ने वाराणसी अदालत के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के लिए 5 दिसंबर की तारीख तय की

Gyanvapi
Creative Common
अभिनय आकाश । Nov 30, 2022 7:55PM
याचिका में वाराणसी की अदालत के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें मस्जिद परिसर में देवी-देवताओं की मूर्तियों की नियमित पूजा करने की अनुमति मांगी गई थी

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने ज्ञानवापी मस्जिद प्रबंधन की पुनर्विचार याचिका पर आगे की सुनवाई के लिए 5 दिसंबर की तारीख तय की है। याचिका में वाराणसी की अदालत के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें मस्जिद परिसर में देवी-देवताओं की मूर्तियों की नियमित पूजा करने की अनुमति मांगी गई थी। मंगलवार को उच्च न्यायालय ने संक्षिप्त सुनवाई के बाद मामले की सुनवाई बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी थी।

इसे भी पढ़ें: बिल्किस बानो ने 11 दोषियों की रिहाई को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

ज्ञानवापी मस्जिद प्रबंधन समिति, अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद ने वाराणसी की अदालत के उस आदेश को चुनौती दी थी, जिसमें पांच हिंदू महिलाओं द्वारा दायर किए गए मुकदमे की विचारणीयता पर उसकी आपत्ति को खारिज कर दिया गया था, जिसमें श्रृंगार गौरी और अन्य देवताओं की पूजा करने की अनुमति मांगी गई थी, जिनकी मूर्तियां मंदिर की बाहरी दीवार पर स्थित हैं। वाराणसी के जिला न्यायाधीश ने 12 सितंबर को याचिका खारिज कर दी थी।

इसे भी पढ़ें: नेपाल के सुप्रीम कोर्ट ने चीनी कंपनी के सड़क प्रोजेक्ट पर लगाई रोक, भारतीय कंपनी ने किया है केस

हिंदू पक्ष के वकील अनुपम द्विवेदी ने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद मामले में कोर्ट के समक्ष स्थानांतरण आवेदन पेश किया गया था और आज स्थानांतरण आवेदन के बहस के लिए तिथि निर्धारित थी लेकिन आवेदकों द्वारा हमें कॉपी नहीं दी गई और आवेदक द्वारा अलग-अलग पक्षकारों को नोटिस भी नहीं भेजा गया था। इसलिए आज की सुनवाईु नही हुई है अब सुनवाई की अगली तारीख 5 दिसंबर तय की गई है। 

इसे भी पढ़ें: जैश ए मोहम्मद के पांच आतंकियों को NIA कोर्ट ने उम्रकैद की सज़ा सुनाई

उच्च न्यायालय ने वाराणसी के जिला न्यायाधीश के आदेश को चुनौती देने वाली लक्ष्मी देवी और अन्य द्वारा दायर एक और पुनरीक्षण याचिका पर आगे की सुनवाई के लिए 18 जनवरी, 2023 को भी निर्धारित किया, जिसके द्वारा निचली अदालत ने 'शिवलिंग' की कार्बन डेटिंग की मांग को खारिज कर दिया था। ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में मिला। दोनों याचिकाओं पर बुधवार को न्यायमूर्ति जे जे मुनीर की अदालत में सुनवाई हुई।

अन्य न्यूज़