पत्नी और ससुराल के टोर्चर से परेशान होकर हेड कांस्टेबल ने खुद को गोली मारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 17, 2018   14:36
पत्नी और ससुराल के टोर्चर से परेशान होकर हेड कांस्टेबल ने खुद को गोली मारी

दिल्ली सचिवालय में ड्यूटी पर तैनात दिल्ली पुलिस के 35 वर्षीय हेड कांस्टेबल ने शुक्रवार सुबह कथित रूप से अपनी सर्विस पिस्तौल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि सोहनवीर सचिवालय में वीवीआईपी पार्किंग पर ड्यूटी पर था।

नयी दिल्ली। दिल्ली सचिवालय में ड्यूटी पर तैनात दिल्ली पुलिस के 35 वर्षीय हेड कांस्टेबल ने शुक्रवार सुबह कथित रूप से अपनी सर्विस पिस्तौल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि सोहनवीर सचिवालय में वीवीआईपी पार्किंग पर ड्यूटी पर था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस को घटना के बारे में सुबह साढ़े पांच बजे सूचना मिली। पुलिस ने कहा कि मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें खुदकुशी करने के लिए पत्नी और ससुराल वालों के साथ घरेलू झगड़े को कारण बताया गया है। उन्होंने बताया कि उसकी पत्नी भी दिल्ली पुलिस में ही कांस्टेबल है।

सुसाइड नोट में सोहनवीर ने आरोप लगाया है उसकी पत्नी का अपने गांव के एक शख्स से विवाहेतर संबंध है और जब उसने मामले को अपने ससुराल वालों के सामने उठाया तो उन्होंने उस पर अपनी बेटी को बदनाम करने का दोष मढ़ दिया। पुलिस आयुक्त को लिखे सुसाइड नोट में कहा गया है कि उसके ससुराल वालों ने बृहस्पतिवार को सार्वजनिक तौर पर उसपर हमला किया और घटना का वीडियो बना लिया। इसमें कहा गया है, ‘‘इसने मेरे आत्मसम्मान को चोट पहुंचाई है और खुदकुशी करने के सिवाए मेरे पास और कोई चारा नहीं था। आप वीडियो जांच सकते हैं और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं।’’

पुलिस ने आईपी स्टेट थाने में खुदकुशी के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और खजूरी खास थाने के स्टाफ के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं, क्योंकि मृतक के परिवार ने आरोप लगाया है कि सोहनवीर ने ससुराल वालों द्वारा पिटाई करने की घटना की रिपोर्ट उक्त थाने में दी थी लेकिन उसकी शिकायत पर कार्रवाई करने के बजाए पुलिस के एक अधिकारी ने उसे मामला हल करने को कहा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...