दिल्ली में भारी बारिश से हुआ भारी ट्रैफिक जाम, यातायात बाधित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 18, 2021   10:59
दिल्ली में भारी बारिश से हुआ भारी ट्रैफिक जाम,  यातायात बाधित

दिल्ली में भारी बारिश के कारण भारी जाम लग गया है।मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, रविवार को सुबह साढ़े आठ बजे से सोमवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक 87.9 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश के कारण कई स्थानों में जलभराव की समस्या हो गई।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में भारी बारिश के बाद सोमवार को कई जगह जलभराव हुआ और यातायात बाधित हो गया। इसके साथ ही, न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 20.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, रविवार को सुबह साढ़े आठ बजे से सोमवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक 87.9 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश के कारण कई स्थानों में जलभराव की समस्या हो गई। दिल्ली यातायात पुलिस ने सोमवार को सुबह ट्वीट किया, ‘‘ जलभराव के कारण पुल प्रहलादपुर अंडरपास और एमबी रोड बंद है। इस सड़क से गुजरने वाले लोग, महरौली मथुरा रोड अंडरपास, सरिता विहार फ्लाईओवर या मोदी मिल फ्लाईओवर की ओर जाने वाले वैकल्पिक मार्ग ले सकते हैं। बदरपुर के लिए भी वैकल्पिक मार्ग ले सकते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: लाउडस्पीकर से अजान देने को लेकर इमाम समेत चार लोगों पर हमला, मामला दर्ज

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिल्ली में सुबह साढ़े नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 325 रहा। गुरूग्राम अैर नोएडा में एक्यूआई क्रमश: 343 और 302 रहा। एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच अच्छा , 51 और 100 के बीच संतोषजनक , 101 और 200 के बीच मध्यम , 201 और 300 के बीच खराब , 301 और 400 के बीच बहुत खराब और 401 और 500 के बीच गंभीर श्रेणी में माना जाता है। अधिकतम तापमान के 29 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। वहीं, हवा में आर्द्रता का स्तर 100 प्रतिशत रहा। वहीं, रविवार को अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 23.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।