कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग, चिकित्सीय ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ाया जा रहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2021   21:57
कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग, चिकित्सीय ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ाया जा रहा

सरकार ने मंगलवार को बताया कि तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन (एलएमओ) का उत्पादन बढ़कर प्रतिदिन 8,922 टन हो गया है, जिसके महीने के अंत तक प्रतिदिन9,250 टन से अधिक हो जाने की उम्मीद है।

नयी दिल्ली। सरकार ने मंगलवार को बताया कि तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन (एलएमओ) का उत्पादन बढ़कर प्रतिदिन 8,922 टन हो गया है, जिसके महीने के अंत तक प्रतिदिन9,250 टन से अधिक हो जाने की उम्मीद है। उसने बताया कि पिछले साल अगस्त में एलएमओ का प्रतिदिन केवल 5,700 टन उत्पादन होता था।

इसे भी पढ़ें: आलोचना का सामना कर रहे EC का जवाब, कहा- कोरोना से जुड़े प्रावधानों को लागू करवाना राज्य प्रशासन की जिम्मेदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र को मंगलवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में जीवन रक्षक गैस के बढ़ते उत्पादन के बारे में जानकारी दी गई। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच कई स्थानों में ऑक्सीजन की कमी की खबरें सामने आई हैं। बैठक में मोदी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे जल्द से जल्द पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र शुरू करने के लिए राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।