हिंदी पत्रकारिता दिवस से शुरू होगा ‘हिंदी पत्रकारिता सप्ताह’ का आयोजन, एमसीयू के फेसबुक पेज पर लाइव होगें पत्रकार, उपन्यासकार और लेखक

हिंदी पत्रकारिता दिवस से शुरू होगा ‘हिंदी पत्रकारिता सप्ताह’ का आयोजन, एमसीयू के फेसबुक पेज पर लाइव होगें पत्रकार, उपन्यासकार और लेखक

‘हिंदी पत्रकारिता सप्ताह’ का आयोजन किया जा रहा है। इसका शुभारम्भ 30 मई, शनिवार को अपराह्न 03:00 बजे माननीय राज्यपाल लालजी टंडन करेंगे। विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर 3:00 बजे से माननीय राज्यपाल के विशेष व्याख्यान का लाइव प्रसारण किया जाएगा।

भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ओर से हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में 30 मई से 06 जून तक ‘हिंदी पत्रकारिता सप्ताह’ का आयोजन किया जा रहा है। इसका शुभारम्भ 30 मई, शनिवार को अपराह्न 03:00 बजे माननीय राज्यपाल लालजी टंडन करेंगे। विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर 3:00 बजे से माननीय राज्यपाल के विशेष व्याख्यान का लाइव प्रसारण किया जाएगा। राज्यपाल महोदय ‘शिक्षा, पत्रकारिता और जीवनमूल्य’ विषय पर अपना संबोधन देंगे। 

 

इसे भी पढ़ें: आयुर्वेदिक चिकित्सा भारत की अत्यंत प्राचीन चिकित्सा पद्धति है, इसमें रोग को जड़ से मिटाने की क्षमता

कुलसचिव प्रो.अविनाश वाजपेयी ने बताया कि पत्रकारिता सप्ताह के अंतर्गत माननीय राज्यपाल महोदय के संबोधन के बाद अगले दिन से सात दिन तक सात महत्वपूर्ण व्याख्यान कराए जाएंगे। सभी व्याख्यान विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर प्रतिदिन 4:00 बजे से लाइव होंगे। 31 मई को ‘वेब मीडिया में उद्यमिता’ विषय पर वरिष्ठ पत्रकार जयदीप कार्णिक (दिल्ली), 01 जून को ‘भरतमुनि के नाट्यशास्त्र में संचार के सूत्र’ विषय पर काठमाण्डू विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. निर्मल मणि अधिकारी (नेपाल), 02 जून को ‘सृजनात्मक लेखन’ पर प्रख्यात उपन्यासकार सुश्री प्रियंका ओम (तंजानिया), 3 जून को ‘वैश्विक आतंकवाद और मीडिया’ विषय पर प्रख्यात क्राइम रिपोर्टर एवं लेखक विवेक अग्रवाल (मुंबई), 4 जून को ‘बदलती दुनिया में रेडियो’ विषय पर बीबीसी मीडिया एक्शन की पत्रकार सुश्री शेफाली चतुर्वेदी, 5 जून को ‘आत्मनिर्भर भारत’ विषय पर इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, मोहाली के प्रो. सिद्धार्थ शेखर सिंह और 06 जून को ‘कोविड-19 की चुनौतियां और मीडिया’ विषय पर रिलायंस कम्युनिकेशंस के प्रेसिडेंट एवं वरिष्ठ पत्रकार उमेश उपाध्याय के व्याख्यान होंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।