तीन दिवसीय दौरे के दौरान गुजरात में गृह मंत्री अमित शाह का संबोधन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 30, 2021   14:46
तीन दिवसीय दौरे के दौरान गुजरात में गृह मंत्री अमित शाह का संबोधन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि,सुनिश्चित किया जाये कि कोई भी पात्र व्यक्ति कल्याणकारी योजनाओं के लाभ से वंचित न रहे।गांधीनगर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले शाह इस समय अपने गृह राज्य गुजरात के तीन दिवसीय दौरे पर हैं जो 28 अगस्त से शुरू हुआ था।

अहमदाबाद। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को स्थानीय निकायों के सरपंचों और अन्य निर्वाचित प्रतिनिधियों से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि उनके क्षेत्र का कोई भी पात्र व्यक्ति केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लाभों से वंचित न रहे। गांधीनगर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले शाह इस समय अपने गृह राज्य गुजरात के तीन दिवसीय दौरे पर हैं जो 28 अगस्त से शुरू हुआ था।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह ने अहमदाबाद के अधिकारियों से सितंबर तक प्रत्येक पात्र व्यक्ति को टीके की पहली खुराक लगाने को कहा

गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अहमदाबाद जिले के साणंद कस्बे के निकट निधराड गांव में गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक लड्डू बांटने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में शाह ने कहा कि हालांकि बुनियादी ढांचे का विकास महत्वपूर्ण है, लेकिन अगर लोग कमजोर रहेंगे तो इसका कोई फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा, राज्य और केंद्र सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। स्थानीय प्रशासन लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रहा है। लेकिन, यह सुनिश्चित करना सरपंच, जिला और तालुका पंचायतों के निर्वाचित प्रतिनिधियों की जिम्मेदारी है कि कोई भी पात्र व्यक्ति इन योजनाओं के तहत लाभ पाने से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि गांधीनगर लोकसभा सीट के कार्यकर्ता विभिन्न गांवों का दौरा करके शिविरों का आयोजन कर लोगों तक पहुंच रहे हैं। शाह ने कहा, लेकिन, वे खुद कितना क्षेत्र कवर कर सकते हैं? यदि इस क्षेत्र के सरपंच यह जिम्मेदारी लेते हैं कि कोई भी पात्र व्यक्ति आयुष्मान कार्ड या कोई विधवा पेंशन से वंचित नहीं रहेगी, तो गांधीनगर देश का सबसे विकसित लोकसभा क्षेत्र बन जाएगा।” उन्होंने कहा, बुनियादी ढांचे का विकास महत्वपूर्ण है और यह प्रक्रिया भी जारी रहेगी।

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान से भारत आ रहे हिंदू और सिख परिवारों को बसाने के लिए अमित शाह को लिखा गया पत्र

लेकिन, गरीबों, दलितों और महिलाओं का सशक्तिकरण भी उतना ही महत्वपूर्ण है। अगर लोग गरीब और कमजोर रहते हैं तो बुनियादी ढांचे के विकास का कोई मतलब नहीं है। शाह ने गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) की मदद से गांधीनगर निर्वाचन क्षेत्र के लिए एक योजना शुरू की है, जिसमें लगभग 7,000 गरीब गर्भवती महिलाओं को प्रसव तक हर महीने विटामिन युक्त 15 लड्डू दिए जाएंगे। शाह ने कहा कि ये लड्डू बच्चों और उनकी माताओं की कुपोषण से लड़ने में मदद करेंगे। उन्होंने कहा, यह योजना सरकार से बिना किसी वित्तीय मदद के शुरू की गई है। मैं उन सभी गैर सरकारी संगठनों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस योजना को शुरू करने के लिए हाथ मिलाया है। ये प्रोटीन और विटामिन युक्त लड्डू गर्भवती महिलाओं को मुफ्त में दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मार्च 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राजस्थान से शुरू किया गया पोषण अभियान अब एक जन आंदोलन बन गया है। शाह ने जन्माष्टमी के अवसर पर लोगों को बधाई दी और तोक्यो पैरालिंपिक में एक स्वर्ण पदक सहित पदक जीतने वाले भारतीय एथलीटों को भी बधाई दी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।