भारत और पाकिस्तान शांति पहल का पूरा समर्थन करने को तैयार है हुर्रियत कांफ्रेंस

ind pak
हुर्रियत कांफ्रेंस में भारत और पाकिस्तान शांति पहल का पूरा समर्थन करने को तैयार है। भारत और पाकिस्तान ने 25 फरवरी को घोषणा की थी कि वे जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा एवं अन्य सेक्टरों में संघर्ष-विराम के सभी समझौतों का कड़ाई से पालन करने पर राजी हुए हैं।

श्रीनगर। हुर्रियत कांफ्रेंस में मीरवाइज उमर फारूक की अगुवाई वाले नरमपंथी धड़े ने मंगलवार को कहा कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच उन सभी पहलों का पूरा समर्थन करने को तैयार है जिनका लक्ष्य इस उपमहाद्वीप में शांति लाना है। यहां जारी एक बयान में हुर्रियत के इस धड़े ने कहा कि नियंत्रण रेखा संघर्ष विराम का पालन करने पर भारत एवं पाकिस्तान के बीच सहमति, बाद के बयान एवं उनके कृत्य दोनों पड़ोसियों के बीच संबंधों में सकारात्मक बदलाव का संकेत करते हैं।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन (संशोधन) विधेयक को लेकर राज्यसभा में हंगामा, कार्यवाही बाधित

उसने कहा, ‘‘ हुर्रियत हमेशा दोनों देशों के बीच उन पहलों का समर्थन करने के लिए तैयार था और है जिनका लक्ष्य इस उपमहाद्वीप के लोगों के लिए शांति एवं समृद्धि लाना तथा कश्मीर विवाद का निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण समाधान करना है।’’ उसने कहा कि वह दोनों देशों के बीच दोस्ताना पड़ोसी संबंध की दिशा की ओर झुकाव का ‘बहुत स्वागत’ करता है। भारत और पाकिस्तान ने 25 फरवरी को घोषणा की थी कि वे जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा एवं अन्य सेक्टरों में संघर्ष-विराम के सभी समझौतों का कड़ाई से पालन करने पर राजी हुए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़