जीजा का साली के साथ था अवैध संबंध, बदला लेने के लिए साढू ने उठाया यह खौफनाक कदम, पढ़कर रोंगटे खड़े हो जाएंगे

crime
पुलिस ने निपानिया बैजनाथ गांव में 1 दिसंबर को हुई 44 साल के नूर मोहम्मद शेख नाम के शख्स की हत्या की वारदात का पर्दाफाश किया है। बताया जा रहा है कि इस हत्या के पीछे जीजा और साली के अवैध संबंध थे। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मध्य प्रदेश पुलिस ने आगर मालवा में हुई एक हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने निपानिया बैजनाथ गांव में 1 दिसंबर को हुई 44 साल के नूर मोहम्मद शेख नाम के शख्स की हत्या की वारदात का पर्दाफाश किया है। बताया जा रहा है कि इस हत्या के पीछे जीजा और साली के अवैध संबंध थे। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस हत्या मामले में कातिलों को ढूंढने के लिए पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम भी रखा था।

जीजा-साली में थे अवैध रिश्ते

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपी सुहेल की पत्नी का उसके जीजा नूर मोहम्मद के साथ प्रेम संबंध था। जीजा ने साली के पति को उसकी सुहागरात पर फोन कर धमकी दी थी कि साली से दूर रहना, वह सिर्फ मेरी है। इस बात का बदला सुहेल ने एक साल बाद नूर मोहम्मद की हत्या करके लिया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हत्या करने के बाद आरोपियों ने धारदार हथियार को रास्ते में पुलिया के नीचे फेंक दिया और खून से सने कपड़ों की दुकान के बाहर जला दिया।

चाकू गोदकर की हत्या 

पुलिस अधीक्षक राकेश सागर ने बताया कि 1 दिसंबर 2021 को रात 9 बजे थाना आगर मालवा में नूर मोहम्मद नाम के शख्स की हत्या की सूचना आई थी। उन्होंने बताया कि नूर मोहम्मद की अज्ञात हमलावरों द्वारा चाकू गोदकर हत्या की गई थी। पुलिस को जांच में पता चला कि नूर मोहम्मद ने तीन शादियां की थी और वह अपनी तीसरी पत्नी के साथ रह रहा था। तीसरी पत्नी की छोटी बहन की शादी 30 नवंबर 2020 में बड़ौत के निवासी सुहेल से हुई थी।


जीजा ने साली के पति को सुहागरात पर फोन कर धमकी दी थी कि साली से दूर रहे

पुलिस ने जब मामले की जांच पड़ताल की तो उन्हें पता चला कि मृतक के अपनी साली के साथ शारीरिक संबंध थे। यह बात दोनों के परिजनों को पता चल गई थी। जिसके बाद दोनों को समझाया गया और साली की शादी कर दी गई। लेकिन नूर मोहम्मद फिर भी अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहा था। उसने साली के पति को धमकी दी कि वह साली से दूर रहे। 

1 दिसंबर को मृतक नूर मोहम्मद की पत्नी और आरोपी सुहेल की पत्नी गोद भराई के लिए गंगापुर गए हुए थे। सुहेल ने इस मौके का फायदा उठाते हुए अपने सीने में भड़क रही बदले की आग को बुझाने  का फैसला किया। उस दिन नूर मोहम्मद घर पर अकेला था और सुहेल ने उसे मौत के घाट उतारने का प्लान बना लिया। सुहेल और उसका चचेरा भाई जाफर मोटरसाइकिल से निपानिया बैजनाथ पहुंचे। मां दोनों ने नूर मोहम्मद की चाकू घोंप कर हत्या कर दी और उसके बाद अपने गांव वापस आ गए। जहां उन्होंने अपने खून से सनी कपड़ों को जला दिया और हथियारों को फेंक दिया। पुलिस ने करीब 25 दिन बाद इस हत्याकांड की गुत्थी को सुलझा लिया और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

अन्य न्यूज़