यदि पंजाब में आप जीतती है, तो हर महिला को 1,000 रु प्रति माह दिए जाएंगे: केजरीवाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2021   17:50
यदि पंजाब में आप जीतती है, तो हर महिला को 1,000 रु प्रति माह दिए जाएंगे: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि यदि पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में उनकी आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में आती है, तो राज्य में हर महिला के खाते में एक हजार रुपए प्रति माह भेजे जाएंगे।

मोगा (पंजाब)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि यदि पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में उनकी आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में आती है, तो राज्य में हर महिला के खाते में एक हजार रुपए प्रति माह भेजे जाएंगे। केजरीवाल ने मुफ्त सेवाओं के अपने वादों की सूची में एक और वादा जोड़ते हुए कहा, ‘‘मैं आज एक घोषणा करना चाहता हूं। पंजाब में आम आदमी पार्टी सरकार बनाएगी। हम राज्य में 18 साल से अधिक आयु की हर महिला के खाते में हर महीने एक हजार रुपए भेजेंगे।’’ उन्होंने यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिन बुजुर्ग महिलाओं को पेंशन मिल रही है, उन्हें भी यह राशि दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रियों को विभाग बांटे, गृह और वित्त विभाग खुद रखा

केजरीवाल दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को पंजाब आए हैं। ‘आप’ के ‘मिशन पंजाब’ के तहत केजरीवाल आगामी राज्य विधानसभा चुनावों के लिए समर्थन जुटाने के मकसद से अगले एक महीने में राज्य के विभिन्न स्थानों का दौरा करेंगे। ‘आप’ का गठन 2012 में हुआ था और यह पिछले विधानसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी दल बनी थी, लेकिन पार्टी नेताओं ने स्वीकार किया था कि उन्हें पंजाब में पार्टी से और भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी।

इसे भी पढ़ें: अपने सपनों पर ‘बुर्का’ डालने की बजाय कठिन डगर पर चल पड़ी ओडिशा की पहलवान ताहिरा

केजरीवाल ने आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी के सत्ता में आने पर पंजाब में हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने, 24 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने और सरकारी अस्पतालों में उपचार एवं दवाएं नि:शुल्क मुहैया कराने का भी वादा किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।