यदि भाजपा सत्ता में आयी तो बंगाल मे होंगे एक चरण में विधानसभा चुनाव: दिलीप घोष

Dilip Ghosh
राज्य में इस बार आठ चरण में चुनाव हो रहे हैं जबकि पिछली बार सात चरणों में चुनाव कराये गये थे। घोष के बयान पर तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत राय ने आश्चर्य प्रकट किया कि क्या कोई राजनीतिक दल चुनाव कराने के बारे में निर्णय ले सकता है।
कोलकाता। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव कराने को लेकर प्रश्न खड़ा करने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को आड़े हाथों लेते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने शनिवार को कहा कि सत्तारूढ़ ‘तृणमूल कांग्रेस द्वारा छेड़ी गयी राजनीतिक हिंसा’ के चलते इसकी जरूरत पड़ी लेकिन यदि उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो एक चरण में चुनाव सुनिश्चित करेगी। घोष ने यह वादा भी किया यदि भाजपा सत्ता में आयी तब वह राज्य को हिंसा एवं आतंक से मुक्त करेगी। उन्होंने ‘चाय पर चर्चा’ के दौरान कहा, ‘‘राज्य में आठ चरणों में चुनाव स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए है। राज्य में तृणमूल कांग्रेस की राजनीतिक हिंसा बड़े पैमाने पर है।’’ भाजपा सांसद ने कहा कि यदि चुनाव एक चरण में कराये जायेंगे तो यह गर्व की बात होगी। बनर्जी ने बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव कराने के चुनाव आयाग के निर्णय पर सवाल उठाया था और संदेह व्यक्त किया था कि भाजपा के चुनाव अभियान को फायदा पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के सुझाव पर तारीखें घोषित की गयी हैं। राज्य में इस बार आठ चरण में चुनाव हो रहे हैं जबकि पिछली बार सात चरणों में चुनाव कराये गये थे। घोष के बयान पर तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत राय ने आश्चर्य प्रकट किया कि क्या कोई राजनीतिक दल चुनाव कराने के बारे में निर्णय ले सकता है। 

इसे भी पढ़ें: तृणमूल कांग्रेस सत्ता में लौटेगी, बंगाल के लोग अपनी बेटी की वापसी चाहते हैं: प्रशांत किशोर

चुनाव आयोग जैसे स्वतंत्र निकायों के निर्णय पर भाजपा का प्रभाव होने का आरोप लगाते हुए माकपा नेता सुजान चक्रवर्ती ने सवाल किया, ‘‘ पता नहीं कि उन्होंने यह बयान कैसे दिया। क्या कोई राजनीतिक दल चुनाव के चरणों का फैसला कर सकता है?’’ इस बीच , भाजपा समर्थकों ने आरोप लगाया कि शनिवार सुबह को कोलकाता के बागुईहाटी इलाके में पुलिस ने पार्टी की परिवर्तन यात्रा रोक दी। भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस की इस कथित कार्रवाई के खिलाफ कुछ घंटे वीआईपी रोड जाम कर दिया जो शहर के उत्तर-पूर्व हिस्से में अहम मार्ग है। बागुईहाटी थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया इस कार्यक्रम के लिए अनुमति नहीं दी गयी थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़