सत्ता में आए तो व्यापम घोटाले की फास्ट ट्रैक जांच के आदेश देंगे: सिंधिया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2018   19:48
सत्ता में आए तो व्यापम घोटाले की फास्ट ट्रैक जांच के आदेश देंगे: सिंधिया

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा की जबर्दस्त लहर होने के बावजूद जीत हासिल करने वाले कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भगवा पार्टी ‘अपराधियों’ पर विश्वास करती है।

 गुना/शिवपुरी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि अगर कांग्रेस मध्यप्रदेश में सत्ता में आई तो कथित व्यापम घोटाले की फास्ट ट्रैक जांच के आदेश दिए जाएंगे। सिंधिया मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रचार समिति के प्रमुख हैं। कांग्रेस राज्य में 15 वर्षों से सत्तारूढ़ भाजपा को शिकस्त देने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है। मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड जिसे व्यापम भी कहा जाता है, पर भर्ती घोटाले के गंभीर आरोप हैं। मामले की जांच कर रही सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय अब तक इस संबंध में अनेक आरोप पत्र दाखिल कर चुकी हैं। 

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा की जबर्दस्त लहर होने के बावजूद जीत हासिल करने वाले कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भगवा पार्टी ‘अपराधियों’ पर विश्वास करती है। साथ ही उन्होंने उन आरोपों को खारिज किया कि कांग्रेस के घोषणापत्र में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ पर मध्यप्रदेश में प्रतिबंध लगाने की बात कही गई है।

सिंधिया ने अपने संसदीय क्षेत्र गुना-शिवपुरी में प्रचार के दौरान कहा, ‘‘इसमें क्या विवाद है? इसमें (कांग्रेस घोषणापत्र) किसी संगठन पर प्रतिबंध लगाने की बात नहीं कही गई है। हमारे घोषणापत्र में यह स्पष्ट कहा गया है कि सरकारी प्रक्रिया के नियम के मुताबिक, जिसके तहत सभी सरकारी कर्मचारी शासित हैं ,आपको किसी भी राजनीतिक संगठन की संगठनात्मक गतिविधियों में शामिल होने की इजाजत नहीं है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘आप किसी राजनीतिक संगठन पर विश्वास कर सकते हैं, इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन एक सरकारी कर्मचारी होने के नाते आप इसमें भाग नहीं ले सकते और यह हमारे संविधान का हिस्सा है।’’ कांग्रेस की जीत की सूरत में कौने से मुद्दे हैं जिन्हें प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाएगा इस पर सिंधिया ने कहा कि व्यापम घोटाले में न्याय सुनिश्चित करना जरूरी है। ।

उन्होंने कहा, ‘‘हम सबसे पहले व्यापम को समाप्त करेंगे और एक नए बोर्ड का गठन करेंगे। कम से कम 2000 छात्र जेल में हैं, 35 मामले चल रहे हैं और अब तक 28 लोगों की मौत हो चुकी है। हम फास्ट ट्रैक जांच सुनिश्चित करेंगे और दोषियों के खिलाफ मामले दर्ज कराए जाएगें।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।