शनिवार को दिल्ली में जदयू की अहम बैठक, बड़ा फैसला ले सकते हैं नीतीश कुमार

शनिवार को दिल्ली में जदयू की अहम बैठक, बड़ा फैसला ले सकते हैं नीतीश कुमार

बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा पार्टी अध्यक्ष आरसीपी सिंह, उपेंद्र कुशवाहा, ललन सिंह के अलावा कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि मोदी सरकार में आरसीपी सिंह के शामिल हो जाने के बाद पार्टी नया अध्यक्ष चुन सकते हैं।

बिहार विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है। इन सबके बीच बिहार की राजनीति भी गर्म है। बिहार में जदयू और राजद जातीय जनगणना को लेकर एक साथ है। इन सबके बीच जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में होनी है। शनिवार को शाम 4:00 बजे जंतर मंतर के पास जदयू कार्यालय में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी। बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा पार्टी अध्यक्ष आरसीपी सिंह, उपेंद्र कुशवाहा, ललन सिंह के अलावा कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि मोदी सरकार में आरसीपी सिंह के शामिल हो जाने के बाद पार्टी नया अध्यक्ष चुन सकते हैं।

इन सबके बीच खबर यह भी है कि सदस्यता अभियान के लिए भी रूपरेखा पर चर्चा की जा सकती है। साथ ही साथ संगठन से मुद्दे भी उठाए जा सकते हैं। खबर यह भी है कि नीतीश कुमार यहां से कार्यकर्ताओं को बढ़ा संदेश दे सकते हैं। साथ ही साथ कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं। सबकी निगाहें इस बात पर टिकी है कि जदयू का नया अध्यक्ष कौन हो सकता है। हाल में ही आरसीपी सिंह ने कहा था कि पार्टी जब भी कहेगी वह अध्यक्ष पद छोड़ने के लिए तैयार है। हालांकि आरसीपी सिंह ने यह भी कहा था कि उन्हें मंत्री रहते हुए पार्टी के दायित्वों का निर्वहन करने में कोई दिक्कत नहीं है और वह इससे पीछे नहीं हटेंगे।

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार के सुशासन में दुस्साहस! बदमाशों ने कटिहार के महापौर के सीनें में दागी गोलियां

लेकिन सियासी गलियारों से जो खबर छनकर आ रही हैं उसके अनुसार इस बात की गारंटी मानी जा रही है कि जदयू नए अध्यक्ष का चयन कर सकता है। अध्यक्ष को लेकर 2 नाम सबसे ज्यादा चर्चा में है। पहला नाम है उपेंद्र कुशवाहा जबकि दूसरा नाम है मुंगेर से सांसद और नीतीश कुमार के करीबी ललन सिंह का। इसी सवाल के जवाब में दिल्ली में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के मुद्दे पर वहां चर्चा होगी ऐसा कोई एजेंडा नहीं है। कई राज्यों में चुनाव हैं और पार्टी में सदस्यता के माध्यम से पार्टी को विस्तार देना है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अभी आरसीपी सिंह ही हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।