कुल्लू में बस हादसे में बढ़ा मौत का आंकड़ा, 44 लोगों के शव निकाले गये

in-kullu-bus-falls-into-deep-gutters-44-dead-34-injured
बंजार पटवारी शीतल कुमार ने बताया कि शुरूआती जांच में ऐसा लगता है कि यह बस अपनी क्षमता से अधिक यात्रियों को लेकर जा रही थी और उसके चालक ने लापरवाही से गाड़ी चलाई।

शिमला। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में एक बस के बृहस्पतिवार को गहरे नाले में गिर जाने से कम से कम 44 लोगों की मौत हो गई और 34 अन्य लोग घायल हो गए। कुल्लू के पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि निजी बस (पंजीकरण संख्या एचपी 66-7065) जिले की बंजार तहसील में धोथ मोड़ के पास 300 मीटर से अधिक गहरे नाले में गिर गई। बस कुल्लू से गड़ गुशानी जा रही थी। बंजार पटवारी शीतल कुमार ने बताया कि शुरूआती जांच में ऐसा लगता है कि यह बस अपनी क्षमता से अधिक यात्रियों को लेकर जा रही थी और उसके चालक ने लापरवाही से गाड़ी चलाई।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश बस हादसा: स्थिति का जायजा लेने कुल्लू के अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री

कुल्लू के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजकुमार चंदेल ने बताया कि दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 44 हो गई है। उन्होंने कहा कि घायलों का बंजार सिविल अस्पताल और कुल्लू जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। ज्यादातर हताहत कुल्लू जिले के विभिन्न क्षेत्रों के रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि गंभीर रूप से घायल कुछ यात्रियों को पीजीआई चंडीगढ़ में स्थानान्तरित किया गया है।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल के कुल्लू में दर्दनाक बस हादसा, 32 लोगों की मौत, 28 घायल

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस दुर्घटना पर दुख प्रकट किया है। अधिकारियों ने बताया कि ठाकुर ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिये है और घायलों को सर्वश्रेष्ठ इलाज उपलब्ध कराने के लिए कहा है। कुल्लू जिला प्रशासन ने प्रत्येक मृतक एवं घायल के निकटतम परिजन को 50 हजार रुपये की राहत राशि देने का ऐलान किया है। 

इसे भी देखें-

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़