संजय राउत मामले में भाजपा ने कहा- राजनीति कर रहा विपक्ष, अगर भ्रष्टाचार हुआ है तो जांच होगी

sambit patra
Twitter
अंकित सिंह । Aug 01, 2022 5:49PM
भाजपा नेता ने सवाल किया कि क्या भ्रष्टाचार की जांच भ्रष्टाचार की जांच करने वाली विभिन्न एजेंसियों द्वारा नहीं की जानी चाहिए? क्या ईडी को उन मामलों की जांच नहीं करनी चाहिए जहां हजारों करोड़ का घोटाला हुआ? जहां तक ​​संजय राउत और पात्रा चॉल का सवाल है, यह कोई ताजा मामला नहीं है बल्कि 14-15 साल से चल रहा है।

धन शोधन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया है। आज उन्हें कोर्ट में भी पेश किया गया जिसके बाद संजय राउत को प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में 4 दिनों के लिए भेज दिया गया है। प्रवर्तन निदेशालय संजय राउत से लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं, विपक्ष की ओर से भाजपा पर जबरदस्त तरीके से आरोप लगाया जा रहा है। विपक्ष का आरोप है कि केंद्र सरकार प्रतिशोध की भावना से विपक्षी दलों के नेताओं के खिलाफ जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। इन सब के बीच भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने विपक्ष पर पलटवार किया है। संबित पात्रा ने कहा कि जिस तरह से विपक्ष भ्रष्टाचार पर राजनीति कर रहा है, वह पूरा भारत देख रहा है। संजय राउत पात्रा चॉल मामले में शामिल हैं और विपक्ष उन्हें मोहरा बनाकर राजनीति करने की कोशिश कर रहा है। 

इसे भी पढ़ें: आदित्य ठाकरे का बड़ा आरोप, महाराष्ट्र को विभाजित करने की हो रही कोशिश, विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा

भाजपा नेता ने सवाल किया कि क्या भ्रष्टाचार की जांच भ्रष्टाचार की जांच करने वाली विभिन्न एजेंसियों द्वारा नहीं की जानी चाहिए? क्या ईडी को उन मामलों की जांच नहीं करनी चाहिए जहां हजारों करोड़ का घोटाला हुआ? जहां तक ​​संजय राउत और पात्रा चॉल का सवाल है, यह कोई ताजा मामला नहीं है बल्कि 14-15 साल से चल रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि करीब 680 परिवारों के घर नहीं बने। कोई उनके बारे में पता लगाने की कोशिश नहीं कर रहा है। विपक्ष को उनके बारे में पता लगाना चाहिए और उनके दर्द के बारे में जानना चाहिए। यह एक हजार करोड़ रुपये के घोटाले से जुड़ा मामला है। ईडी इसकी जांच कर रही है। सामने आ रहे हैं पैसा और तथ्य।

इसे भी पढ़ें: क्या है हवाला कारोबार? कहां से हुई इसकी शुरुआत, कैसे ब्लैक मनी को एक जगह से दूसरे जगह पहुंचाया जाता है

संबित पात्रा ने कहा कि संजय राउत में हक की भावना क्यों है? वह एक सांसद है। क्या इसका मतलब यह है कि उसके खिलाफ जांच नहीं होनी चाहिए? ये है न्यू इंडिया। लोगों की गाढ़ी कमाई का भ्रष्टाचार है तो जीरो टॉलरेंस की नीति है, इसकी जांच कराई जाएगी। वहीं, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को कहा कि शिवसेना नेता संजय राउत के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई निश्चित साक्ष्यों के आधार पर प्रतीत हो रही है। भाजपा नेता ने कहा कि ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) एक राष्ट्रीय जांच एजेंसी है। एजेंसी ने दस्तावेजों और सबूतों के आधार पर ही राउत के खिलाफ कार्रवाई की होगी। मैं इस पर आगे कोई टिप्पणी नहीं करूंगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़