• तेंदुए का आतंक! टिहरी के गांव में तीन दिन में दूसरी महिला को बनाया अपना निवाला

टिहरी जिले के दुरोगी गांव में आदमखोर तेंदुए ने मंगलवार को एक महिला को अपना निवाला बना लिया। गांव में पिछले तीन दिनों में तेंदुए के हमले की यह दूसरी घटना है। वन रेंजर देवेंद्र सिंह पुंडीर ने बताया कि 50 वर्षीय गुंडरी देवी खेतों में काम कर रही थी, उसी दौरान पर तेंदुए ने उनपर हमला किया।

नई टिहरी। टिहरी जिले के दुरोगी गांव में आदमखोर तेंदुए ने मंगलवार को एक महिला को अपना निवाला बना लिया। गांव में पिछले तीन दिनों में तेंदुए के हमले की यह दूसरी घटना है। वन रेंजर देवेंद्र सिंह पुंडीर ने बताया कि 50 वर्षीय गुंडरी देवी खेतों में काम कर रही थी, उसी दौरान पर तेंदुए ने उनपर हमला किया। उन्होंने बताया कि महिला का शव कुछ घंटों बाद एक खड्ड से बरामद हुआ।

इसे भी पढ़ें: सख्त मिजाज दादी-सा सुरेखा सीकरी असल जिंदगी में थी खुशमिजाज

मृतका की गर्दन में गंभीर घाव हैं। गांव में तीन दिन के भीतर तेंदुए के हमले की यह दूसरी घटना है। पिछले शनिवार को भी तेंदुआ एक महिला को उसके आंगन से उठा ले गया था और बाद में उसका अधखाया शव खेतों से बरामद हुआ था।

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान: बकरीद नमाज के समय काबुल में राष्ट्रपति भवन के पास बरसे तीन रॉकेट

इससे पहले भी, एक अन्य महिला को घायल करने के अलावा तेंदुआ गांव वालों के मवेशियों को अपना निवाला बना चुका है। घायल महिला का इलाज चल रहा है। एक ग्रामीण ने बताया कि वन विभाग की एक टीम शनिवार से ही गांव में मौजूद है, लेकिन अब तक तेंदुए को पकड़ने या उसे गोली मारने में सफलता नहीं मिल पायी है। उन्होंने कहा कि वन विभाग की विफलता से दुरोगी और चाम गांवों के ग्रामीणों में रोष है क्योंकि वे लोग लगातार तेंदुए के हमले की दहशत में जी रहे हैं।