उप्र के मुजफ्फरनगर में दलित महिला का यौन उत्पीड़न, सात लोग गिरफ्तार

assault
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक गांव में 30 वर्षीय दलित महिला का सात लोगों ने कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया और बंदूक का डर दिखाते हुए उसे कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया तथा घटना का वीडियो भी बनाया। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है।

मुजफ्फरनगर, 1 अगस्त।  उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक गांव में 30 वर्षीय दलित महिला का सात लोगों ने कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया और बंदूक का डर दिखाते हुए उसे कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया तथा घटना का वीडियो भी बनाया। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि घटना मुजफ्फरनगर जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के एक गांव में शनिवार शाम को हुई।

इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। पीड़िता द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के अनुसार, वह घास काटने के लिए एक खेत में गई थी, जहां सात लोगों ने उसका यौन उत्पीड़न किया और बंदूक के बल पर कपड़े उतारने के लिए मजबूर करने के बाद उसका वीडियो बनाया। कोतवाली थाना के प्रभारी आनंद देव मिश्रा ने कहा कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 354बी और 506, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार रोकथाम कानून की धारा 3 और सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया है। मिश्रा के मुताबिक, रविवार को मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपियों की पहचान अनुज, कुलदीप, अंकित, रवि, रिजवान, छोटा और अब्दुल के रूप में की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़