• ‘ऑपरेशन बिरसा मुंडा’ के दौरान शहीद हुए कैप्टन को समर्पित युद्ध स्मारक का उद्घाटन

भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास 1999 में अंजाम दिये गए ‘आपरेशन बिरसा मुंडा’ के दौरान शहीद हुए कैप्टन गुरजिंदर सिंह सूरी को समर्पित एक युद्ध स्मारक का उद्घाटन किया।

श्रीनगर। भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास 1999 में अंजाम दिये गए ‘आपरेशन बिरसा मुंडा’ के दौरान शहीद हुए कैप्टन गुरजिंदर सिंह सूरी को समर्पित एक युद्ध स्मारक का उद्घाटन किया। रक्षा प्रवक्ता कर्नल एमरोन मुसावी ने एक बयान में बताया कि यह स्मारक उत्तर कश्मीर के बारामूला के गुलमर्ग में अग्रिम स्थान पर है। उद्घाटन के दौरान कैप्टन सूरी के पिता लेफ्टिनेंट कर्नल (सेवानिवृत्त) तेजप्रकाश सिंह सूरी मौजूद थे।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक अनलॉक: धार्मिक स्थल, मॉल सहित कई चीजें खुली, नाइट कर्फ्यू जारी

चार चुलाई को कैप्टन सूरी का जन्मदिवस भी पड़ता है। कर्नल एमरोन मुसावी ने कहा कि ‘ऑपरेशन बिरसा मुंडा’ भारतीय सेना की बिहार बटालियन द्वारा नवंबर,1999 में एक पाकिस्तान चौकी को दिया गया माकूल जवाब था। उन्होंने कहा कि यह ऐसा समय था जब ऑपरेशन ‘विजय समाप्त हो चुका था लेकिन नियंत्रण रेखा पर अब भी सीमापार से हिंसात्मक गतिविधियों को अंजाम दिया जा रहा था।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र के परिवार से मिले जेपी नड्डा, जयराम ठाकुर भी रहे मौजूद

उन्होंने कहा कि चुस्ती एवं सावधानी पूर्वक अभियान चलाकर पाकिस्तान की पूरी चौकी को नष्ट कर दिया गया था और इसमें 17 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे। उन्होंने बताया कि अदम्य साहस और बहादुरी दिखाने के लिए कैप्टन सूरी को मरणोपरांत महावीर चक्र से सम्मानित किया गया था।