टीकाकरण प्रमाण पत्र को परस्पर मान्यता देने के वास्ते औपचारिकताएं शीघ्र पूरी करेंगे भारत, रूस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 7, 2021   08:37
टीकाकरण प्रमाण पत्र को परस्पर मान्यता देने के वास्ते औपचारिकताएं शीघ्र पूरी करेंगे भारत, रूस

संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों पक्षों ने कोविड-19 महामारी की स्थिति पर विचारों का आदान प्रदान किया और विशेष रूप से ‘स्पूतनिक-वी’ टीके के संबंध में जारी द्विपक्षीय सहयोग की सराहना की। दोनों नेताओं ने महामारी के दौरान समय पर सहायता करने के लिए एक-दूसरे के देशों का आभार व्यक्त किया।

नयी दिल्ली| भारत और रूस ने सोमवार को विश्वास जताया कि कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्र शीघ्र परस्पर स्वीकार्यता से दोनों देशों के लोगों की आवाजाही में सुविधा होगी। इसके साथ ही दोनों देश इसके लिए तेज गति से औपचारिकताएं पूरी करने पर सहमत हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई शिखर वार्ता के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों देश, महामारी से पूर्व की क्षमता वाली, सीधी यात्री और मालवाहक उड़ान बहाल करने पर विचार करने के लिए सहमत हुए।

संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों पक्षों ने कोविड-19 महामारी की स्थिति पर विचारों का आदान प्रदान किया और विशेष रूप से ‘स्पूतनिक-वी’ टीके के संबंध में जारी द्विपक्षीय सहयोग की सराहना की। दोनों नेताओं ने महामारी के दौरान समय पर सहायता करने के लिए एक-दूसरे के देशों का आभार व्यक्त किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।