नेताजी सुभाष चंद्र बोस के सपने पूरे करने के लिए मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा भारत : योगी

Netaji Subhash
प्रतिरूप फोटो
ANI
सोमवार को बोस की जयंती पर लखनऊ में आयोजित एक समारोह में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद योगी ने अपने संबोधन में प्रदेशवासियों की ओर से नेताजी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि हर भारतवासी उनके (नेताजी) सपनों को पूरा करने की दिशा में योगदान देगा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सोमवार को कहा कि देश की आजादी के लिए संघर्ष करने वाले महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस का सुरक्षित और स्वावलंबी भारत बनाने का जो सपना था, उसे पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रहा है। सोमवार को बोस की जयंती पर लखनऊ में आयोजित एक समारोह में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद योगी ने अपने संबोधन में प्रदेशवासियों की ओर से नेताजी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि हर भारतवासी उनके (नेताजी) सपनों को पूरा करने की दिशा में योगदान देगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, “इस देश को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में जो कार्यक्रम चल रहे हैं, उनमें हर भारतवासी अपने कर्तव्यों का पालन करना शुरू करेगा, तो स्वाभाविक रूप से नेताजी सुभाष चंद्र बोस और आजादी के महानायकों के सपने साकार होंगे।” योगी ने कहा कि आज पूरा देश आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की पावन जयंती पर उन्हें नमन कर रहा है। उन्होंने कहा, “देश की आजादी में नेताजी के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने के लिए प्रधानमंत्री ने 2021 में 23 जनवरी को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाने और इसके जरिये पूरे देशवासियों को नेताजी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने का अवसर प्रदान किया। आज भारत नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रति ‘पराक्रम दिवस’ के माध्‍यम से अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है।”

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom: Mahua Moitra, Derek O’Brien और Owaisi को क्या देश से ज्यादा BBC पर है भरोसा?

मुख्यमंत्री ने कहा कि बोस ने स्पष्ट किया था कि जिन लोगों ने हमारे देश को गुलाम बनाया है, हम उनकी अधीनता स्वीकार नहीं करेंगे और हम किसी भी बड़े पद को ठुकरा सकते हैं और उन्होंने उस समय की सबसे बड़ी आईसीएस की सेवा छोड़ दी। योगी ने कहा कि देश के प्रत्येक नागरिक में राष्ट्र भक्ति का भाव पैदा हो और हम सब अपनी राष्ट्रीयता के मार्ग का अनुसरण करते हुए नेशन फर्स्ट (राष्ट्र प्रथम) के इस भाव को सदैव अंगीकार कर सकें, वे (बोस) इस बात के पक्षधर थे। आजादी की लड़ाई में बोस के योगदान की विस्तार से चर्चा करते हुए योगी ने कहा कि न केवल भारत के अंदर, बल्कि दुनिया के कई देशों, मसलन जर्मनी, जापान, सिंगापुर में रहकर उन्होंने भारत की आजादी की अलख जगाई और भारत की आजादी के लिए आजाद हिंद फौज बनाई। कार्यक्रम में मौजूद उप मुख्‍यमंत्री ब्रजेश पाठक समेत कई प्रमुख लोगों ने भी नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़