PM मोदी ने तीन नई लैबों का किया उद्धाटन, कहा- अन्य देशों के मुकाबले भारत संभली हुई स्थिति में है

PM मोदी ने तीन नई लैबों का किया उद्धाटन, कहा- अन्य देशों के मुकाबले भारत संभली हुई स्थिति में है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल्ली- एनसीआर, मुंबई और कोलकाता, आर्थिक गतिविधियों के बड़े सेंटर हैं। यहां देश के लाखों युवा अपने करियर को, अपने सपनों को पूरा करने आते हैं। अब इन तीनों जगह टेस्ट की जो उपलब्ध कपैसिटी है, उसमें 10 हज़ार टेस्ट की कैपेसिटी और जुड़ने जा रही है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नोएडा, कोलकाता और मुंबई में आईसीएमआर की तीन नई लैबों का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश के करोड़ों नागरिक कोरोना से बहुत बहादुरी से लड़ रहे हैं। आज जिस Hi-tech State of the Art टेस्टिंग फैसिलिटी की शुरुआत हुई है, उससे पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में और ताकत मिलने वाली है। 

इसे भी पढ़ें: अशोक गहलोत ने PM मोदी से फोन पर की बात, राजस्थान की मौजूदा गतिविधियों से कराया अवगत 

उन्होंने कहा कि दिल्ली- एनसीआर, मुंबई और कोलकाता, आर्थिक गतिविधियों के बड़े सेंटर हैं। यहां देश के लाखों युवा अपने करियर को, अपने सपनों को पूरा करने आते हैं। अब इन तीनों जगह टेस्ट की जो उपलब्ध कपैसिटी है, उसमें 10 हज़ार टेस्ट की कैपेसिटी और जुड़ने जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि ये हाईटेक लैब्स सिर्फ कोरोना टेस्टिंग तक ही सीमित रहने वाली नहीं हैं। भविष्य में हेपेटाइटिस बी और सी, एचआईवी, डेंगू सहित कई बीमारियों की टेस्टिंग के लिए भी इन लैब्स में सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

सही समय में लिए गए सही फैसले

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में जिस तरह सही समय पर सही फैसले लिए गए, आज उसी का परिणाम है कि भारत अन्य देशों के मुकाबले, काफी संभली हुई स्थिति में है। आज हमारे देश में कोरोना से होने वाली मृत्यु, बड़े-बड़े देशों के मुकाबले, काफी कम है। उन्होंने आगे कहा कि आइसोलेशन सेंटर हो, कोविड स्पेशल हॉस्पिटल हो, टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रैकिंग से जुड़ा नेटवर्क हो, भारत ने बहुत ही तेज़ गति से अपनी क्षमताओं का विस्तार किया। आज भारत में 11 हजार से ज्यादा कोविड फैसिलिटीज़ हैं, 11 लाख से ज्यादा आइसोलेशन बेड हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ जंग को लेकर नड्डा ने की PM मोदी की प्रशंसा, कहा- लोगों की मदद के लिए मजबूत फैसले लिए गए 

रोजाना बन रहीं 5 लाख से ज्यादा पीपीई किट

प्रधानमंत्री ने आगे बताया कि सिर्फ 6 महीना पहले देश में एक भी पीपीई किट मैन्यूफैक्चरर नहीं था। आज 1200 से ज्यादा मैन्यूफैक्चरर हर रोज 5 लाख से ज्यादा पीपीई किट बना रहे हैं। एक समय भारत N-95 मास्क भी बाहर से ही मंगवाता था। आज भारत में 3 लाख से ज्यादा N-95 मास्क हर रोज बन रहे हैं।

यहां सुने पूरा संबोधन 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।