आतंकवाद पर सुरक्षा परिषद की मेजबानी करेगा भारत, 29 अक्टूबर को होगी बैठक, 15 देश होंगे शामिल

India
creative common
अभिनय आकाश । Aug 05, 2022 2:19PM
दिसंबर में भारत संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता भी करेगा। आतंकवाद के खिलाफ अक्टूर में अमेरिका, चीन और रूस सहित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 15 देशों के राजनयिकों की एक विशेष बैठक की मेजबानी करेगा

आतंकवाद के प्रसार के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग सहित तीन महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ आतंकवाद के खिलाफ एक विशेष बैठक के लिए भारत 29 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की मेजबानी करेगा। भारत यूएमएससी के एक निर्वाचित गैर-स्थायी सदस्य के रूप में अपने दो साल के कार्यकाल के दूसरे वर्ष के आधे रास्ते में है और वर्तमान में 2022 के लिए परिषद की आतंकवाद-रोधी समिति की अध्यक्षता कर रहा है। भारत में ये बैठक सातवीं बार हो रही है। संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय के बाहर सीटीसी की सबसे हालिया विशेष बैठक जुलाई 2015 में मैड्रिड, स्पेन में हुई, जिसमें विदेशी आतंकवादी लड़ाकों (एफटीएफ) पर ध्यान केंद्रित किया गया था।

इसे भी पढ़ें: भारत का उपराष्ट्रपति कैसे चुना जाता है, पद के बारे में संविधान क्या कहता है, जानें सारी जानकारी

दिसंबर में भारत संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता भी करेगा। आतंकवाद के खिलाफ अक्टूर में अमेरिका, चीन और रूस सहित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 15 देशों के राजनयिकों की एक विशेष बैठक की मेजबानी करेगा। समिति की वेबसाइट के अनुसार नई और उभरती तकनीक के दुरुपयोग से आने वाले खतरे को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवादी रोधी समिति ने इस विषय पर 29 अक्टूबर को भारत में अपने कार्यकारी निदेशालय के सहयोग से एक विशे। बैठक आयोजित करने का फैसला किया है। 

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका और मालदीव के बाद अब क्या पाकिस्तान को भी बचायेगा भारत?

आतंकवाद विरोधी समिति (सीटीसी) की स्थापना 2001 के 9/11 के आतंकवादी हमलों के मद्देनजर की गई थी। यूएनएससी संकल्प 1373 (2001) ने इसे परिषद के सहायक निकाय के रूप में स्थापित किया था। पिछले साल दिसंबर में सीटीसी का अध्यक्ष बनने की पूर्व संध्या पर भारत ने आतंकवाद विरोधी समिति के कार्यकारी निदेशालय (सीटीईडी) के जनादेश को नवीनीकृत करने के लिए एक प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़