32 साल में 32 शादियां! पहले रचाती शादी फिर पूरे घर को लूटती, पुलिस ने किया पर्दाफाश

MARRAIGE
Google common license
निधि अविनाश । May 16, 2022 5:35PM
लूटेरी दुल्हन को पकड़ने के लिए पुलिस को खुद दूल्हा बनना पड़ा और उसके सामने शादी की पेशकश की। बातचीत बढ़ने के बाद आरोपित महिला और सिविल ड्रेस में आया पुलिस एक मॉल में मिले। महिला के साथ एक गुड्डी बर्मन नाम की महिला भी साथ आई थी जो रिश्ते की मध्यस्थता कर रही थी।

मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले की रहने वाली एक लड़की ने 32 शादियां की है। महिला की उम्र 32 साल की है और यह शादी कर सबको चखमा देती है। खबरों के मुताबिक इस लूटेरी दुल्हन ने जिससे भी शादी की है सभी के परिवार वालों के लाखों रुपए लूटे है। राजस्थान पुलिस को आरोपी महिला के खिलाफ कई शिकायतें मिली जिसके बाद पुलिस ने महिला की तलाश शुरू कर दी। महिला ने राजस्थान में शादी के बाद ठगी को अंजाम दिया है। पुलिस ने महिला को पकड़ने के लिए एक जाल बिछाया जिसमें खुद एक पुलिसकर्मी दूल्हा बना कर महिला के पास पहुंचा।

इसे भी पढ़ें: धर्मशाला में जून में होने वाले मुख्य सचिवों के सम्मेलन में शामिल हो सकते हैं PM मोदी

हैरान कर देने वाली बात यह है कि महिला 33वीं शादी के लिए भी तैयार हो गई थी और जैसे ही दूल्हा उसके सामने सिविल ड्रेस में पहुंचा वैसे ही महिला को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि महिला का नाम रीना ठाकुर उर्फ काजल चौधरी है। यह चेरीताल क्षेत्र की रहने वाली है जिसके खिलाफ राजस्थान में 2 दर्जन से भी ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार बोले- जाति जनगणना पर काम शुरू होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा

पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है। लूटेरी दुल्हन को पकड़ने के लिए पुलिस को खुद दूल्हा बनना पड़ा और उसके सामने शादी की पेशकश की। बातचीत बढ़ने के बाद आरोपित महिला और सिविल ड्रेस में आया पुलिस एक मॉल में मिले। महिला के साथ एक गुड्डी बर्मन नाम की महिला भी साथ आई थी जो रिश्ते की मध्यस्थता कर रही थी। आरोपी रीना ने जैसे ही शादी के लिए हां की वैसे ही सिविल ड्रेस में पहुंचे पुलिस ने आरोपी महिला को गरिफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस मामले में गुड्डी बर्मन एवं दो अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़