महागठबंधन पर जावड़ेकर का तंज, कहा- बहुत सारे जीरो जोड़ने से हीरो पैदा नहीं हो सकता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   19:19
महागठबंधन पर जावड़ेकर का तंज, कहा- बहुत सारे जीरो जोड़ने से हीरो पैदा नहीं हो सकता

उन्होंने नई दिल्ली में तय कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को होने वाली गैर भाजपा पार्टियों की बहुप्रतीक्षित बैठक के स्थगित होने का उल्लेख करते हुए कहा कि ‘बहुत सारे जीरो जोड़ के हीरो पैदा नहीं किया जा सकता।

जयपुर। विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रस्तावित महागठबंधन का जिक्र करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरूवार को कहा कि गठबंधन का जनता के लिये कोई एजेंडा नहीं है और इनका केवल एक ही उद्देश्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हटाना है। भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी जावड़ेकर ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि गठबंधन का कोई वैचारिक एजेंडा नहीं है।

उन्होंने नई दिल्ली में तय कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को होने वाली गैर भाजपा पार्टियों की बहुप्रतीक्षित बैठक के स्थगित होने का उल्लेख करते हुए कहा कि ‘बहुत सारे जीरो जोड़ के हीरो पैदा नहीं किया जा सकता। बिना स्टार्ट वाले गठबंधन में कितनी भी बार किक मारी जायें गठबंधन स्टार्ट नहीं होगा।’ जावड़ेकर ने कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री कार्यालय के निर्देशों पर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल द्वारा विधानसभा भंग करने के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि राज्यपाल, राष्ट्रपति के साथ विचार विमर्श करके निर्णय लेने में सक्षम हैं।

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर एक महत्वपूर्ण राज्य है। पाकिस्तान का उद्देश्य वहां अराजकता पैदा करना है, वहां के मुद्दे संवेदनशील हैं, उसके अनुसार ही हम उन पर निर्णय लेते है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव सफलता पूर्वक कराये गये हैं और अब विधानसभा चुनाव होंगे। मंत्री ने कहा कि भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकार अपने कार्यकाल में किये गये कार्यो का लेखाजोखा देने को तैयार है लेकिन कांग्रेस वास्तविक मुद्दों पर चर्चा करना नहीं चाहती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।