देवघर रोपवे हादसा:मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख की सहायता राशि देने का आदेश

ROPE WAY
GOOGLE COMMON LICENSE
झारखंड में रोप वे हादसा एवं लोहरदगा हिंसा में मृतकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा का ऐलान किया गया है।आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि साहिबगंज सेआज शाम वापस लौटे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने आवास पर देवघर में त्रिकूट पर्वत पर हुई रोपवे दुर्घटना के संबंध में उच्चस्तरीय बैठक की जिसमें इस आशय की उन्होंने घोषणा की।

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने देवघर स्थित त्रिकुट पर्वत पर स्थित रोपवे में रविवार को हुए हादसे और लोहरदगा में रामनवमी के जुलूस पर हुए हमले में मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता राशि देने और घायलों के निशुल्क इलाज की घोषणा की। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि साहिबगंज से आज शाम वापस लौटे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने आवास पर देवघर में त्रिकूट पर्वत पर हुई रोपवे दुर्घटना के संबंध में उच्चस्तरीय बैठक की जिसमें इस आशय की उन्होंने घोषणा की।

इसे भी पढ़ें: युवाओं को जाति, धर्म से ऊपर उठना चाहिए : उपराष्ट्रपति नायडू

बैठक में त्रिकूट पर्वत रोप-वे हादसे की जांच के लिए उच्चस्तरीय जांच समिति गठित करने तथा गठित समिति में रोप-वे से संबंधित विशेषज्ञों को भी शामिल किए जाने का निर्देश मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिया। इस दोरान रोप-वे हादसे को लेकर प्राथमिकी दर्ज किए जाने का भी निर्देश दिया गया। बाद में मुख्यमंत्री ने स्वयं ट्वीट कर भी इन निर्णयों की जानकारी दी। इससे पूर्वदेवघर में दस अप्रैल की शाम त्रिकुट पर्वत पर पर्यटकों के लिए बने रोप-वे की केबल कारों में हुई टक्कर के बाद 1500 से 2000 फीट की उंचाई पर 25 केबल कारों में फंसे 48 लोगों में से 46 को बचा लिया। इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि 12 अन्य घायल हो गये जिनमें से दो की मौत हेलीकॉप्टर से बचाये जाने के दौरान नीचे गिर जाने से हुई।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़