Jharkhand वन विभाग ने आदमखोर तेंदुए को मारने का आदेश जारी किया

maneating leopard
प्रतिरूप फोटो
ANI
झारखंड के पलामू संभाग में 10 दिसंबर के बाद से इस तेंदुए ने गढ़वा में तीन और लातेहार जिले में एक बच्चे सहित कुल चार बच्चों को मार डाला है। मारे गए सभी बच्चों की उम्र छह से 12 साल के बीच बताई जा रही है।

रांची। झारखंड वन विभाग ने आदमखोर तेंदुए को मारने का आदेश जारी किया है। वन विभाग के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। वन विभाग के अधिकारी ने कहा कि तेंदुए को बेहोश करने या पिंजरे में बंद करने के उसके अब तक के प्रयासों के असफल रहने के बाद विभाग ने यह आदेश जारी किया। झारखंड के पलामू संभाग में 10 दिसंबर के बाद से इस तेंदुए ने गढ़वा में तीन और लातेहार जिले में एक बच्चे सहित कुल चार बच्चों को मार डाला है। मारे गए सभी बच्चों की उम्र छह से 12 साल के बीच बताई जा रही है।

इसे भी पढ़ें: Republic Day: आठ दिनों के लिए दिल्ली में हवाई क्षेत्र रहेगा प्रतिबंधित, उड़ानों पर पड़ेगा असर

प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) शशिकर सामंत ने पीटीआई-से कहा, ‘‘ यह आदेश बुधवार शाम को जारी किया गया था जिसमें कहा गया है कि यदि ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है कि आपको (शूटर) या किसी अन्य को खतरा हो तो आप तेंदुए को मार सकते हैं या घायल कर सकते हैं।’’ शशिकर सामंत ने कहा, ‘‘ हमारी प्राथमिकता अभी भी तेंदुए को पकड़ना है। लेकिन, यदि तेंदुआ उसे पकड़ने की प्रक्रिया में लोगों के जीवन के लिए खतरा पैदा करता है, तो उसे मारा जा सकता है। ’’ आदमखोर तेंदुए से निपटने के लिए हैदराबाद के प्रसिद्ध शिकारी नवाब सफत अली खान को बुलाया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़