Congress की भारत जोड़ो यात्रा पर जितेंद्र सिंह का तंज, उनकी राजनीति अलगाववाद से फली-फूली, पीएम मोदी ने वह किया जो वे नहीं कर सके

Jitendra Singh
ANI
अंकित सिंह । Jan 19, 2023 7:56PM
जितेंद्र सिंह ने कहा कि हमने वह दौर देखा था जब 1990 के दशक में जम्मू-कश्मीर के नाम पर खून-खराबा हो रहा था और आतंकवाद चरम पर था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उस वक्त यात्रा निकाली थी। यह पार्टी और उसके नेता थे जिन्होंने तब इसका विरोध किया था। उन्होंने इसे रोकने का प्रयास किया था।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा जम्मू कश्मीर पहुंच गई है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने इसका स्वागत किया। हालांकि, जम्मू कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा के एंट्री के बाद से ही राजनीति तेज हो गई है। भाजपा ने कांग्रेस के भारत जोड़ो यात्रा पर तंज कसा है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने साफ तौर पर कहा है कि कांग्रेस की राजनीति अलगाववाद पर ही फली फूली है। जितेंद्र सिंह ने कहा कि हमने वह दौर देखा था जब 1990 के दशक में जम्मू-कश्मीर के नाम पर खून-खराबा हो रहा था और आतंकवाद चरम पर था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उस वक्त यात्रा निकाली थी। यह पार्टी और उसके नेता थे जिन्होंने तब इसका विरोध किया था। उन्होंने इसे रोकने का प्रयास किया था। 

इसे भी पढ़ें: 'निराधार आरोप लगाते हैं राहुल गांधी', अनुराग ठाकुर बोले- उन्हें बताना चाहिए की कितना समय उन्होंने सदन में बिताया?

भारत जोड़ो यात्रा पर जितेंद्र सिंह ने कहा कि 2011 में जब तिरंगा यात्रा निकाली गई थी तो हमारे 3 वरिष्ठ नेताओं- अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और अनंत कुमार को जम्मू के एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर पठानकोट भेज दिया गया था। हम उसे कैसे भूल सकते हैं? हम धरने पर बैठे थे। उन्होंने कहा कि अब, जब पीएम मोदी ने वह किया जो वे नहीं कर सके - धारा 370 को निरस्त करना, जम्मू-कश्मीर को मुख्यधारा का हिस्सा बनना - वे अपने प्यार का इजहार कर रहे हैं। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि हकीकत यह है कि उनकी राजनीति अलगाववाद से फली-फूली। भारत जोड़ो यात्रा जहां से गुजरी, वहां हुई 'कांग्रेस तोड़'। 

इसे भी पढ़ें: Jammu-Kashmir में बोले राहुल गांधी, मेरे पूर्वज इसी भूमि से थे, सरकार बड़े पैमाने पर जनता की जेब काट रही है

वहीं, राहुल गांधी ने ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के जम्मू-कश्मीर में प्रवेश के बाद कहा कि मेरे पूर्वज इसी भूमि से संबंध रखते थे, मुझे लगता है कि मैं घर वापस लौट रहा हूं। उन्होंने कहा कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने नफरत फैलाई है, पहले मैंने सोचा था कि यह बहुत गहराई तक फैला है, लेकिन ऐसा नहीं है और ऐसा मुख्य रूप से टेलीविजन पर दिखाई देता है। राहुल ने कहा कि मैं कन्याकुमारी से पैदल चलकर कश्मीर आया हूं, भाजपा और आरएसएस की नीतियों ने बड़े पैमाने पर बेरोजगारी की समस्या पैदा की है। 

अन्य न्यूज़