पत्रकार संघों ने मीडिया संस्थानों में छंटनी रोकने के लिये प्रधानमंत्री मोदी से दखल की मांग की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2020   08:27
पत्रकार संघों ने मीडिया संस्थानों में छंटनी रोकने के लिये प्रधानमंत्री मोदी से दखल की मांग की

पत्रकार संघों ने पत्र लिखकर पीएम मोदी से स्थिति पर लगातार नजर रखने और श्रमजीवी पत्रकारों को बचाने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने का आग्रह किया। पत्र में कहा गया है, ‘इन परिस्थितियों में, हम आपसे हस्तक्षेप करने और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध करते हैं कि पत्रकारों को नौकरी से नहीं निकाला जाए।

नयी दिल्ली। पत्रकार संघों ने कोरोना वायरस महामारी के बीच पत्रकारों की छंटनी रोकने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दखल देने की मांग की है। प्रेस एसोसिएशन, प्रेस संघ, भारतीय पत्रकार संघ, श्रमजीवी समाचार कैमरामैन संघ और भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार संघ (एनयूजे-आई) ने मोदी को लिखे पत्र में मीडिया सेक्टर में बड़े पैमाने पर छंटनियों और कर्मचारियों के वेतन में कटौती का मामला उठाया है। 

इसे भी पढ़ें: फडणवीस का हमला, कहा- मीडिया को आतंकित कर रही है महाराष्ट्र सरकार

उन्होंने सरकार से स्थिति पर लगातार नजर रखने और श्रमजीवी पत्रकारों को बचाने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने का आग्रह किया। यह पत्र 27 अप्रैल का है। पत्र में कहा गया है, यह भी मददगार होगा अगर, हाल ही में स्वास्थ्य कर्मियों के लिये घोषित बीमा कवर में पत्रकारों को भी शामिल कर लिया जाए। पत्र में कहा गया है, ‘इन परिस्थितियों में, हम आपसे हस्तक्षेप करने और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध करते हैं कि पत्रकारों को नौकरी से नहीं निकाला जाए या उनकी आजीविका, संकट के इस क्षण में प्रभावित न हो। हम आपके कार्यालय से तत्काल हस्तक्षेप की उम्मीद करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।