जेपी नड्डा का तंज, सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सिर्फ भ्रष्टाचार की ही गारंटी दे सकती है

जेपी नड्डा का तंज, सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सिर्फ भ्रष्टाचार की ही गारंटी दे सकती है

नड्डा ने कहा कि आप लोग इलाज के लिए दिल्ली AIIMS जाया करते थे। मोदी जी का आशीर्वाद हुआ, मैं स्वास्थ्य मंत्री बना और अब गुवाहाटी में AIIMS बनकर तैयार हो रहा है। जो इलाज दिल्ली में होता था, वो अब गुवाहाटी में होगा।

असम विधान सभा चुनाव को लेकर भाजपा की ओर से खूब जमकर प्रचार किया जा रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने आज जमुगुड़ीहाट में पार्टी प्रत्याशी के लिए प्रचार किया। इस दौरान जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। जेपी नड्डा ने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस सिर्फ ‘भ्रष्टाचार की गारंटी’ दे सकती है, उसका तो ‘कमिशन का मिशन है।’ 60 साल कांग्रेस के एक तरफ रख दीजिए और 60 महीने सर्बानंद जी के नेतृत्व में चलने वाली एनडीए की सरकार को रख दीजिए। आप पाएंगे 60 महीने वाला पलड़ा भारी होगा, जबकि 60 साल का पलड़ा हल्का होगा।

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ‘लटकाना’, ‘अटकाना’, ‘भटकाना’ में यकीन रखती है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘जोड़ने’ में विश्वास करते हैं। नड्डा ने कहा कि असम के साथ नरेन्द्र मोदी जी का विशेष लगाव है। इस बार के बजट में 53,000 करोड़ रुपये असम के विकास के लिए दिए गए हैं। 35,000 करोड़ रुपये नेशनल हाईवे बनाने के लिए दिए गए हैं। इसी तरह से विकास के कार्य आगे बढ़ाए जा रहे हैं।  

इसे भी पढ़ें: अमित शाह का शक्ति प्रदर्शन, खड़गपुर रोड शो में बोले- बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ में बदलेगी भाजपा

नड्डा ने कहा कि आप लोग इलाज के लिए दिल्ली AIIMS जाया करते थे। मोदी जी का आशीर्वाद हुआ, मैं स्वास्थ्य मंत्री बना और अब गुवाहाटी में AIIMS बनकर तैयार हो रहा है। जो इलाज दिल्ली में होता था, वो अब गुवाहाटी में होगा। नरेन्द्र मोदी जी ने असम को बाढ़ मुक्त करने के लिए 4 गुना ज्यादा धनराशि दी है। अब असम बाढ़ मुक्त होगा। सेटेलाइट के माध्यम से हम सर्वे करा रहे हैं। जहां-जहां बाढ़ का पानी आता है, वहां बड़े-बड़े तालाब बनेंगे। उसमें मछली पालन भी होगा और बाढ़ मुक्त असम होगा। नरेन्द्र मोदी जी ने असम को बाढ़ मुक्त करने के लिए 4 गुना ज्यादा धनराशि दी है। अब असम बाढ़ मुक्त होगा। सेटेलाइट के माध्यम से हम सर्वे करा रहे हैं। जहां-जहां बाढ़ का पानी आता है, वहां बड़े-बड़े तालाब बनेंगे। उसमें मछली पालन भी होगा और बाढ़ मुक्त असम होगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।