कलराज मिश्र की अपील, स्थानीय उत्पादों को ही खरीदें लोग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   08:58
कलराज मिश्र की अपील, स्थानीय उत्पादों को ही खरीदें लोग

वर्तमान आर्थिक संकट को दूर करने के लिए भारी निवेश की आवश्यकता है। इसलिए भारतीय उत्पादों को खरीदने से भारतीय अर्थव्यवस्था को बहुत अधिक बढ़ावा मिलेगा। यह अभियान देश के लिए बहुत आवश्यक है।

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि अब समय आ गया है कि स्थानीय सामान बनाने वाले लोगों की मदद की जाये और हर भारतीय का कर्तव्य है कि वह स्थानीय उत्पादों को खरीदें। उन्होंने कहा कि कोविड के इस आपातकाल के दौर ने हमें जीवन के ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है, जिसके बारे में हमने कभी स्वप्न में भी नहीं सोचा था। जीवन की सभी गतिविधियों को रोक दिया है, किन्तु साथ ही एक अवसर भी प्रदान किया है कि हम कुछ गंभीर और महत्वपूर्ण निर्णय ले पायें।

वोकल फॉर लोकल भी एक ऐसा ही कार्य है, जो देश और समय की जरूरत है मिश्र बुधवार को बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। मिश्र ने कहा कि देश के एक सौ तीस करोड़ देशवासियों का लोकल उत्पादों के प्रति संकल्प व दृढ़ विश्वास से ही लोकल के लिए वोकल होने और लोकल को ग्लोबल बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि वोकल फॉर लोकल के इस अभियान से देश की कम्पनियों में गर्व की भावना मजबूत होगी तथा बेहतर उत्पाद बनाने की तरफ भी देश की निर्माता कम्पनियों को प्रोत्साहन मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस: चंडीगढ़ में 167 नये मामले सामने आए, एक की मौत

उन्होंने कहा कि यह अवधारणा भारतीय अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करेगी। वर्तमान आर्थिक संकट को दूर करने के लिए भारी निवेश की आवश्यकता है। इसलिए भारतीय उत्पादों को खरीदने से भारतीय अर्थव्यवस्था को बहुत अधिक बढ़ावा मिलेगा। यह अभियान देश के लिए बहुत आवश्यक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...