कमलनाथ को CM शिवराज से मुलाकात का मिला फल, दिग्विजय सिंह पर दर्ज हुई एफआईआर

Fir logded on digvijay singh
सुयश भट्ट । Jan 22, 2022 3:59PM
मुख्यमंत्री शिवराज कल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से मिले लेकिन दिग्विजय सिंह से नहीं मिले थे। जिसके बाद दोनों ने ही सीएम हॉउस के बाहर धरना दिया था। लेकिन एफआईआर दिग्विजय सिंह के खिलाफ हुई है लेकिन कमलनाथ पर नहीं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमत्री दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को किसानों के मुद्दे और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात नहीं होने पर धरना प्रदर्शन किया था। श्यामला हिल्स पुलिस ने दिग्विजय समेत 2 दर्जन से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है। पुलिस ने धारा 353 सरकारी अधिकारी को काम करने से रोकने और धारा 188 सरकारी आदेश की अवहेलना करने पर कार्रवाही करते हुए एफआईआर दर्ज की है।

वहीं मुख्यमंत्री शिवराज कल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से मिले लेकिन दिग्विजय सिंह से नहीं मिले थे। जिसके बाद दोनों ने ही सीएम हॉउस के बाहर धरना दिया था। लेकिन एफआईआर दिग्विजय सिंह के खिलाफ हुई है लेकिन कमलनाथ पर नहीं। एफआईआर दर्ज होने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि हमें पहले से ही पता था केस दर्ज होगा।

इसे भी पढ़ें:एमपी के खंडवा जिले में गलत इंजेक्शन से मरीज की हुई मौत, पुलिस ने डॉक्टर को किया गिरफ्तार 

दरअसल धरने के चलते कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने की कोशिश की थी। जिसे लेकर सीएम सिक्योरिटी के अफसर नाराज दिखे थे। अफसर ने ड्यूटी पर तैनात सभी पुलिस के अधिकारियों से जवाब मांगा है। मुख्यमंत्री की सिक्योरिटी में लगे अफसर ने पूछा कि मुख्यमंत्री के काफिले के सामने कांग्रेस कार्यकर्ता कैसे आ गए।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री पौधारोपण करने दिग्विजय सिंह के बंगले के सामने से स्मार्ट सिटी पार्क जा रहे थे। इसी दौरान मुख्यमंत्री के कारकेट को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रोकने की कोशिश की थी। इस घटना स्थल पर चार थाने के थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ तैनात थे।

इसे भी पढ़ें:पूर्व विधायक इमरती देवी ने सड़क पर फेंका मास्क, वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर वायरल 

इसके अलावा सरकार ने धरना प्रदर्शन पर रोक लगा रखा है, बावजूद इसके सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ाई गई। इसलिए पुलिस ने दिग्विजय समेत कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़