कोरोना की रफ्तार को रोकने के लिए कर्नाटक सरकार ने राज्य में लगाया 14 दिन का सख्त कर्फ्यू

कोरोना की रफ्तार को रोकने के लिए कर्नाटक सरकार ने राज्य में लगाया 14 दिन का सख्त कर्फ्यू

कोरोना वायरस के कहरको देखते हुए अब कर्नाटक सरकार ने भी राजज्य में कर्फ्यू लगाने का फैसला कर लिया है। कर्नाटक सरकार ने राज्य में अगले दो हफ्तों के लिए सख्त प्रतिबंधों की घोषणा की है।

कोरोना वायरस के कहरको देखते हुए अब कर्नाटक सरकार ने भी राजज्य में कर्फ्यू लगाने का फैसला कर लिया है। कर्नाटक सरकार ने राज्य में अगले दो हफ्तों के लिए सख्त प्रतिबंधों की घोषणा की है। सीएम बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को एक कैबिनेट बैठक के बाद एक प्रेस को संबोधित किया और कर्नाटक में प्रतिबंधों की घोषणा की।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में एक बजे तक 36.39 फीसदी मतदान 

कर्नाटक भारत के उन 10 राज्यों में शामिल है, जिन्होंने सबसे अधिक संख्या में कोविड -19 मामले दर्ज किए हैं। कर्नाटक में सबसे अधिक 29,438 नए मामले दर्ज किए जाने के बाद रविवार को कर्नाटक तीसरे स्थान पर था, इसके बाद उत्तर प्रदेश था। येदियुरप्पा ने सोमवार को घोषणा की उन्होंने कहा, "यह वायरस पूरे राज्य में आक्रामक रूप से फैल रहा है। यह महाराष्ट्र और दिल्ली से भी बदतर है। हम 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण करेंगे। सीएम ने कहा,  45 साल से ऊपर के लोग, वैसे भी केंद्र सरकार उन्हें मुफ्त में टीकाकरण कर रही है।

 

येदियुरप्पा ने घोषणा की, "कल से, 14 दिनों के लिए, पूरे कर्नाटक में जगह-जगह सख्त कदम उठाए जाएंगे। आवश्यक किराने का सामान सुबह 6 से 10 बजे के बीच खरीदने की अनुमति होगी। वस्त्र, निर्माण और कृषि क्षेत्रों के अलावा विनिर्माण क्षेत्र इन दो हफ्तों के दौरान और बिना किसी निषेध के कार्यशील रहेगा। आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी और सप्ताहांत कर्फ्यू भी पहले की तरह घोषित किया जाएगा





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।