कर्नाटक सरकार का ऐलान, कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार के लिए शवदाह गृह में नहीं लगेगा शुल्क

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 25, 2020   21:33
कर्नाटक सरकार का ऐलान, कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार के लिए शवदाह गृह में नहीं लगेगा शुल्क

राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा कि कोविड-19 से मरने वाले लोगों का अंतिम संस्कार करने वाले कर्मी को प्रति शव पर 500 रुपये दिया जाएगा।

बेंगलुरु। कर्नाटक सरकार ने कोविड-19 से मरने वाले लोगों के अंतिम संस्कार के लिए बेंगलुरु में शवदाह गृह में शुल्क नहीं लेने की घोषणा की है और कहा है कि इसका खर्च वहन नगर निकाय द्वारा किया जायेगा। सरकार ने कहा कि कोविड-19 से मरने वाले व्यक्तियों के अंतिम संस्कार के लिए शहर के 12 विद्युत शवदाह गृह में से किसी में भी कोई शुल्क देने की जरूरत नहीं है। राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा, ‘‘मीडिया में ऐसी खबरें आई हैं कि कोविड-19 से मरने वाले लोगों के अंतिम संस्कार में दिक्कतें आ रही है। इन परेशानियों को दूर करने के लक्ष्य से इस संबंध में कुछ निश्चित फैसले लिए गए हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: केरल और कर्नाटक में ISIS आतंकवादियों की काफी संख्या में मौजूदगी: UN रिपोर्ट 

उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 से मरने वाले लोगों का अंतिम संस्कार करने वाले कर्मी को प्रति शव पर 500 रुपये दिया जाएगा। सरकार ने बेंगलुरु में 23 एकड़ जमीन की पहचान कोविड-19 से मरनेवाले लोगों को दफनाने या जलाने के लिए पहचान की थी लेकिन इन क्षेत्रों के स्थानीय लोग इसका विरोध कर रहे हैं। अशोक ने इन लोगों से मुश्किल भरे समय में सहयोग करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इसका विरोध किया जाना सही नहीं है और यह भारतीय संस्कृति के अनुसार भी नहीं है। उन्होंने कहा कि इन जगहों की पहचान सभी धर्मों और समुदायों के लोगों के लिए किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।