केजरीवाल ने गुजरात में लगाया महाव्यापम घोटाला होने का आरोप

Kejriwal
प्रतिरूप फोटो
ANI
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित गुजरात में महाव्यापम घोटाला हुआ है और राज्य सरकार की भर्ती परीक्षाओं के प्रश्नपत्र वर्षों से लीक होते रहे हैं। उन्होंने वादा किया कि अगर इस साल के अंत में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में आती है तो प्रश्नपत्र लीक के खिलाफ कानून बनाया जाएगा जिसमें 10 साल की जेल का प्रावधान होगा।

भावनगर (गुजरात), 24 अगस्त। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित गुजरात में महाव्यापम घोटाला हुआ है और राज्य सरकार की भर्ती परीक्षाओं के प्रश्नपत्र वर्षों से लीक होते रहे हैं। उन्होंने वादा किया कि अगर इस साल के अंत में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में आती है तो प्रश्नपत्र लीक के खिलाफ कानून बनाया जाएगा जिसमें 10 साल की जेल का प्रावधान होगा। चुनावी राज्य में युवाओं को आकर्षित करने का प्रयास करते हुए केजरीवाल ने कहा कि आपसरकार बनने पर निजी क्षेत्र में स्थानीय लोगों को 80 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाला कानून लाया जाएगा।

उन्होंने सरकार बनने पर 15 लाख नौकरियों का वादा भी दोहराया। केजरीवाल ने गुजरात के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन भावनगर में युवाओं के साथ ‘टाउन हॉल’ बैठक में कहा, क्या कोई व्यक्ति प्रश्नपत्र लीक होने को लेकर जेल गया है? वे अब जेल जाएंगे (जब आप की सरकार बनेगी)। मध्य प्रदेश में व्यापम घोटाला था। गुजरात में महाव्यापम घोटाला चल रहा है। व्यापम घोटाला एक प्रवेश परीक्षा और भर्ती घोटाला था जो 2013 में मध्य प्रदेश में सामने आया था। आप के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने कहा, उन्होंने एक झूठे मामले के आधार पर मनीष सिसोदिया (दिल्ली के उपमुख्यमंत्री) के यहां सीबीआई की छापेमारी कराई, जबकि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया था।

लेकिन (गुजरात में सरकारी परीक्षा) के प्रश्नपत्र लीक करने वालों के खिलाफ कोई सीबीआई छापेमारी नहीं की गई। क्यों? क्योंकि प्रश्नपत्र लीक के पीछे उनके अपने ही लोग हैं। इस मौके पर सिसोदिया भी मौजूद थे। केजरीवाल ने 2015 के बाद से गुजरात में प्रश्नपत्र लीक के कई मामलों का जिक्र किया और कहा कि क्या भाजपा सरकार को शर्म आती है? उन्होंने कहा, वे परीक्षा आयोजित नहीं करा सकते, वे सरकार कैसे चलाएंगे? उन्होंने कहा, अगर गुजरात में आप की सरकार बनती है, तो वह प्रश्नपत्र लीक के खिलाफ 10 साल की जेल के प्रावधान के साथ एक कानून लाएगी।

हम 2015 के बाद से प्रश्नपत्र लीक के मामलों की जांच कराएंगे और दोषी पाए जाने वालों को जेल भेजा जाएगा। दिसंबर (चुनाव) के बाद प्रश्नपत्र लीक करने वाले सावधान रहें। केजरीवाल ने दावा किया कि गुजरात में एक मंत्री ने कहा था कि सरकारी नौकरियों में सत्ताधारी दल के लोगों को वरीयता दी जाएगी। उन्होंने कहा, क्या सरकारी नौकरियां आपके पिता की हैं? सरकारी नौकरियां किसी पार्टी की नहीं बल्कि गुजरात के युवाओं की हैं। हम पारदर्शी तरीके से भर्तियां करेंगे और प्रक्रिया में बदलाव लाएंगे। उन्होंने अगले पांच वर्षों में गुजरात के हर युवा के लिए 15 लाख रोजगार पैदा करने के आप के वादे को दोहराया।

उन्होंने कहा कि आप ने एक भर्ती कैलेंडर तैयार किया है जिसमें आप सरकार बनने के एक साल के अंदर विभिन्न पद भरे जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि वह जानते हैं कि नौकरियों कैसे पैदा की जाती हैं और दिल्ली में उनकी सरकार ने विभिन्न माध्यमों से 12 लाख युवाओं को रोजगार दिया है। उन्होंने कहा, हमारा इरादा साफ है। मैं गुजरात के सभी युवाओं को नौकरी देने की गारंटी देता हूं। उन्होंने किसी का नाम लिए बिना दावा किया कि एक पार्टी के एक नेता अपनी तस्वीर उसी न्यूयॉर्क टाइम्स समाचार पत्र में प्रकाशित करना चाहते थे, जिसमें सिसोदिया की एक तस्वीर प्रकाशित हुई थी।

केजरीवाल ने कहा कि उन नेता ने पैसों की पेशकश की लेकिन अखबार ने यह कहते हुए इसे ठुकरा दिया कि यह उनकी मीडिया की तरह नहीं है। उन्होंने कहा, उनका मानना ​​है कि दुनिया में सब कुछ बेचा जा सकता है। लेकिन सब कुछ नहीं बेचा जा सकता है, कई चीजें ईमानदारी से चलती हैं। सिसोदिया ने दिल्ली में सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता में सुधार के लिए बहुत मेहनत की, स्वतंत्र भारत में किसी भी शिक्षा मंत्री ने ऐसा नहीं किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़