भाजपा के पास केंद्रीय एजेंसियां हैं, तो मेरे साथ भगवान कृष्ण हैं : केजरीवाल

Kejriwal invokes Mahabharata
प्रतिरूप फोटो
ANI
चुनावी राज्य के साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर कस्बे में एक टाउनहॉल सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि भाजपा शासित गुजरात बदलाव के लिए तरस रहा है और आप को लोगों का अपार समर्थन मिला है। केजरीवाल ने कहा कि यही कारण है कि सीबीआई ने दिल्ली आबकारी नीति के संबंध में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर छापा मारा।

हिम्मतनगर (गुजरात), 23 अगस्त।  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच के मुकाबले को महाभारत की तरह धर्मयुद्ध के रूप में दिखाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि राज्य के सत्ताधारी दल के पास केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशलय (ईडी) जैसी जांच एजेंसियों की ‘सेना’ है, तो उनके सिर पर‘भगवान कृष्ण का हाथ’ है। आप के संयोजक केजरीवाल ने भाजपा की तुलना महाभारत के हारे हुए खलनायक कौरवों से की और अपने पक्ष की तुलना पांडवों से की जो हिंदू महाकाव्य के विजेता नायक हैं।

चुनावी राज्य के साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर कस्बे में एक टाउनहॉल सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि भाजपा शासित गुजरात बदलाव के लिए तरस रहा है और आप को लोगों का अपार समर्थन मिला है। केजरीवाल ने कहा कि यही कारण है कि सीबीआई ने दिल्ली आबकारी नीति के संबंध में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर छापा मारा। केजरीवाल ने बताया कि किस तरह दुर्योधन (कौरव पक्ष) और अर्जुन (पांडव पक्ष) ने 18-दिवसीय युद्ध शुरू होने से पहले समर्थन के लिए भगवान कृष्ण से संपर्क किया। उन्होंने कहा कि अर्जुन ने कहा कि वह भगवान कृष्ण को अपनी तरफ चाहते हैं, जबकि दुर्योधन ने उनकी सेना मांगी।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘आज इन लोगों (भाजपा के संदर्भ में) के पास सभी सेनाएं, सत्ता, सीबीआई, ईडी, आयकर, पुलिस और बहुत सारा पैसा है। हमारे पास श्री कृष्ण हैं। हमारे पास भगवान हैं और अंत में भगवान की जीत होगी। भगवान लोगों के दिलों में रहते हैं, जनता भगवान है। वे (भाजपा) हमें परेशान कर सकते हैं, लेकिन लोग हमारे साथ हैं।’’ केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में उनकी सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा में दूरगामी सुधार लागू किए हैं जो आजादी के 75 वर्षों में नहीं देखे गए थे।

केजरीवाल ने अपनी पार्टी के चुनाव पूर्व वादे को एक बार फिर दोहराया जिसमें 10 लाख सरकारी नौकरी देने, 5,000 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने और 18 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को 3,000 रुपये भत्ता देने की बात शामिल है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में सत्ता में आने पर प्रश्नपत्र लीक होने की घटनाओं को रोकने के लिए एक कानून लाएगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़